पटना, जेएनएन। बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र के दौरान चल रहे बजट सत्र में पक्ष और विपक्ष ने हर मुद्दे पर खुलकर बेबाक़ तरीक़े से बहस किया और इसी दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेम चंद मिश्रा को अजीब सी सलाह दे डाली, कहा कि कुछ दिन तो गुजारिए गांव में... दरअसल प्रेम चंद मिश्रा ने कुछ राज्यों का हवाला देते हुए सामाजिक सुरक्षा पेंशन 400 रुपये से बढ़ाकर एक हज़ार रुपये करने की मांग की थी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसी संदर्भ में उन्हें ये सलाह दी। 

बजट सत्र के दौरान मुख्यमंत्री ने कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा की ओर इशारा करते हुए कहा कि राजनीति में आपका अधिक समय दिल्ली में बीता है, इसीलिए आपको बिहार के गांव और अर्थव्यवस्था की उतनी जानकारी नहीं है। क्योंकि बिहार लो कोस्टइकॉनोमी है और यहां जीवन यापन करने के लिए बहुत अधिक पैसे की आवश्यकता नहीं है, इसीलिए इसको जानने के लिए आपको कुछ दिन बिहार के गांव में गुजारना चाहिए। 

बता दें कि इस मुद्दे पर बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार पहले भी सफ़ाई दे चुके थे, लेकिन फिर भी उन्होंने बताया कि साथियों जिन हरियाणा, तमिलनाडु, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश का उदाहरण दिया जा है ये देश के विकसित राज्यों में से एक हैं। नीतीश कुमार ने आगे कहा, बिहार की तुलना करना ग़लत है, क्योंकि बिहार की अभी भी प्रति व्यक्ति आय अब इन राज्यों की तुलना में काफ़ी कम हैं। 

उन्होंने कहा कि विवाहित सम्मान योजना है और इसके लाभार्थियों को इनकी संख्या क़रीब 36 लाख की होगी. उनके खाते में ये पैसा जाना शुरू हो गया है।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप