पटना, जेएनएन। पटना के रवीन्द्र भवन में आयोजित जेडीयू की राज्य परिषद की बैठक में सीएम नीतीश ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि कान खोलकर सुन लीजिए, बिहार में NDA में कहीं कोई खचखच-पचपच नहीं है। उन्होंने बड़बोले नेताओं को चेताया और कहा कि जो लोग गड़बड़ी या भ्रम फैला रहे हैं, ऐसी बयानबाजी करने वालों को चुनाव के बाद पता चलेगा और आप लोग भी देख लीजिएगा। 

एनडीए गठबंधन में दरार की खबरों के बीच सीएम नीतीश कुमार का ये बड़ा बयान है। इसके साथ ही सीएम नीतीश ने मीडिया पर भी जमकर निशाना साधा और कहा कि कौन किस विचार के हैं, ये हमें सब अच्छी तरह मालूम है। सुबह आपकी आंख खुलती नहीं कि कुछ बेवजह की खबरें चलने लगती हैं। 

आगामी विधानसभा चुनाव के लिए सीएम नीतीश कुमार ने दावा करते हुए कहा कि इस चुनाव में भी हम 200 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करेंगे। इसके लिए उन्होंने पार्टी के सदस्यों से जिला स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने की सलाह दी और कहा कि ईमानदारी से अपना काम करें और पार्टी की मजबूती के लिए प्रयास करें। कौन क्या कहता है? इसपर ध्यान देने की जरूरत नहीं है। 

सीएम नीतीश कुमार ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरे खिलाफ जो बयान दे रहे हैं वो देते रहे, मुझे इसकी कोई परवाह नहीं है। हमारा काम बिहार के लोगों का सेवा करना है और बिहार के लोगों को मेरे काम से खुशी मिलती है, हमें और कुछ नहीं चाहिए। कुछ लोग केवल वाहवाही के लिए काम करते हैं, करते रहें। नीतीश कुमार ने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के पहले मेरे खिलाफ लोग क्या बयान देते थे? उनका क्या हश्र हुआ जनता ने दिखा दिया।किसको कितनी सीट मिली, देख लीजिए।  

सीएम ने कहा कि वह निरंतर 25 वर्षों से काम कर रहे हैं। मन में कभी भी किसी तरह का भ्रम नहीं रहा। मेरे खिलाफ बोलकर प्रचार पाने के चक्कर में एक नेता कहते हैं कि मैं ऐसा करूं तो ऐसा हो जाएगा, वहीं उसी दल के दूसरे नेता कहते हैं कि इसकी जरूरत नहीं। आधारहीन बात पर चर्चा होती रहती है। अगर मेरे पक्ष में कोई बोल देगा तो अपने ही दल के लोग उसे टारगेट पर ले लेंगे। पर चिंता मत करें आने वाले विधानसभा चुनाव में दो सौ सीट से बहुत आगे जाएंगे। जिसे जो मर्जी आए बोलता रहे।

उन्‍होंने कहा कि बिहार में जो काम हो रहा है उसका लोगों को अनुभव है।  मुझ पर अनाप-शनाप बोलने से कुछ लोगों को खुशी होती है पर बिहार की जनता को मेरे काम से खुशी होती है। काम से खुश लोग जुबान नहीं चलाते पर पूरी मजबूती से वोट देते हैं। महिलाओं, अल्पसंख्यक, अति पिछड़ा और महादलितो के लिए जो काम हुआ है वह लोग भूलते नहीं। बिहार में कोई बंटने वाला नहीं है। हमने लोगों की सेवा करके यह मुकाम हासिल किया है। पूरे इत्मीनान व आत्मविश्वास से हमें अपनी बात कहते रहनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपराध, भ्रष्टाचार व सांप्रदायिकता इन तीन चीजों से कभी समझौता नहीं किया है। इस क्रम में उन्होंने जल-जीवन-हरियाली अभियान की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि जल नहीं तो हरियाली नहीं और इसके बिना जीवन नहीं बचने वाला। दो अक्टूबर से एक-एक पंचायत में इस अभियान के तहत काम आरंभ हो जाएगा।

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप