भागलपुर/किशनगंज/जमुई [जागरण टीम]। बिहार के सीएम नीतीश कुमार का चुनावी अभियान जोरों पर है। इसी क्रम में उन्होंने रविवार को जमुई, भागलपुर व किशनगंज में चुनावी सभा को संबोधित किया। सीएम नीतीश ने विरोधियों पर जमकर बरसे तथा एनडीए को वोट देने की अपील की। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की जमकर प्रशंसा की और कहा कि आतंकवाद का उन्होंने करारा जवाब दिया। उन्‍होंने कांग्रेस के घोषणा पत्र को बेकार बताया तथा कहा कि इसे लागू करना मुश्किल है।  

भागलपुर में बाले- 'विरोधी देश को बांटने की साजिश कर रहे' 

सीएम नीतीश कुमार भागलपुर के एनडीए प्रत्‍याशी अजय मंडल के समर्थन में चुनावी को संबोधित करने पहुंचे थे। उन्‍होंने रविवार को गोपालपुर विधानसभा क्षेत्र के तिनटंगा स्थित राजकीय उच्च विद्यालय प्रांगण में एनडीए प्रत्याशी अजय कुमार मंडल के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि विरोधी समाज और देश को बांटने की साजिश कर रहे हैं। मेरे खिलाफ भी विरोधी तरह-तरह के आरोप लगा रहे हैं। वे आरोप लगाते-लगाते थक जाएंगे, लेकिन सफल नहीं होंगे। वे किनारे में फंस जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि 13 वर्षों से जो आपकी सेवा की है, उसकी मजदूरी मांगने आया हूं। 

 

जमुई में बोले सीएम

इसी तरह जमुई के चकाई स्थित एसके हाई स्कूल मैदान में सीएम नीतीश कुमार ने एनडीए उम्मीदवार चिराग पासवान के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्‍होंने पीएम नरेंद्र माेदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि पीएम ने आतंकवाद को करारा जवाब दिया है। मोदी ने आमलोगों के लिए भी बहुत काम किया है। इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने बिहार के विकास के लिए काम किया। बिहार में न्याय के साथ विकास काम हुआ है। सड़क पर काफी काम किए गए हैं। अब टारगेट है कि बिहार के किसी भी कोने से व्‍यक्ति पांच घंटे में पटना पहुंचें। सड़क व पुल के लिए 50 हजार करोड़ की राशि केंद्र ने दी है। 

उन्होंने कहा कि इस साल बापू जयंती पर हर घर में शौचालय निर्माण के लक्ष्‍य को पूरा कर लिया जाएगा। इसके साथ ही हर गांव व टोले तक बिजली पहुंच गई है। यह काम इसी साल 25 अक्टूबर तक कर लिया गया है। 2005 में 700 मेगावाट बिजली की जरूरत थी, अब 5000 हजार उपलब्ध है। उन्‍हाेंने तंज कसते हुए कहा कि अब बिहार में लालटेन की कहीं जरूरत नहीं है। 

उन्‍होंने कहा कि कृषि के क्षेत्र में उत्पादकता कम थी। आज उत्पादकता दोगुनी हो गई। काम के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता है। महिलाओं को पचास प्रतिशत आरक्षण दिया है। अनुसूचित जाति-जनजाति को 16 प्रतिशत और अत्यंत पिछड़ों को 20 प्रतिशत आरक्षण दिया गया। लड़कियों की शिक्षा के लिए काम किया। साइकिल योजना से लड़कियों में शिक्षा के प्रति उत्साह बढ़ा। इसे देखते हुए बाद में लड़कों के लिए भी साइकिल योजना शुरू की गई। उन्‍होंने कहा कि पहले एक लाख 70 हजार लड़कियां स्‍कूल जाती थीं, अअब नौ लाख लड़कियां स्कूल जा रही हैं। बैंक की व्‍यवस्‍था को महिलाएं जानने लगी हैं। 

किशनगंज में भी विरोधियों पर निशाना 

उधर जमुई व भागलपुर के बाद सीएम नीतीश कुमार किशनगंज पहुंचे। किशनगंज के पौआखाली हाईस्कूल मैदान में सीएम ने चुनावी सभा की। उन्‍होंने यहां भी राजद, कांग्रेस समेत तमाम विरा‍ेधियों को निशाना बनाया है। सीएम के साथ जदयू नेता अशोक चौधरी, गुलाम रसूल समेत कोचाधामन विधायक मास्टर मुजाहिद आलम व ठाकुरगंज विधायक नौशाद आलम भी मौजूद रहे। सीएम नीतीश किशनगंज में एनडीए प्रत्‍याशी महमूद अशरफ के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित किया। 
उन्‍होंने कहा कि  हम हर जगह पहुंच कर समस्या जान रहे हैं। इंसाफ के साथ तरक्की हमारा मकसद है। उन्‍होंने कहा कि समाज के हर तबके का न्याय के साथ विकास हो रहा है। बिहार में महिला समेत हर वर्ग के लिए काम हुआ है। दलित और अल्पसंख्यक बच्चों को स्कूल से जोड़ा गया है। शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी काम हुए हैं। 

सीएम ने कहा कि हाशिये पर छूटे लोगों को मुख्यधारा से जोडऩे का काम किया जा रहा है, चाहे वो किसी भी तबके के हों। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का जिक्र किया। इशारे-इशारे में जंगलराज की चर्चा करते हुए लालू परिवार पर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि पहले 12 फीसद से अधिक बच्चे गरीबी के कारण स्कूल नहीं जा पा रहे थे, अब सबको स्कूल भेजा जा रहा है। इसके लिए तालिमी मरकजों व टोला सेवकों की बहाली की गई है। लड़कियों को उच्च शिक्षा दिलाने में हमारी सरकार मदद कर रही है। सरकारी नौकरी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई गई है।

कहा कि किशनगंज में अभियंत्रण कॉलेज की स्थापना की जा रही है, महिला आइटीआइ को भी मंजूरी दे दी गई है। 11 नये पावर सब स्टेशन बनाए जा रहे हैं, ताकि निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति हो सके। इसके अलावा महानंदा बाढ़ प्रबंधन योजना के तहत फेज दो का काम 883 करोड़ की लागत से प्रारंभ किया गया है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के सेंटर की स्थापना के लिए जमीन उपलब्ध कराई गई है। अर्राबाड़ी में डॉ. कलाम के नाम पर विश्वस्तरीय कृषि कॉलेज बनाया गया है। ठाकुरगंज में मेची व चेंगा नदी पर पुल निर्माण की स्वीकृति दी गई है। इसके अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिवंगत सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी को भी याद किया। 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप