पटना, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुकवार को यह निर्देश दिया कि क्वारंटाइन केंद्रों पर जो नए लोग आ रहे हैैं, उन्हें पुराने अवासितों के साथ नहीं रखें। नए लोगोंं को रखने की व्यवस्था अलग रखें। कोरोना संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण को ले सभी विभागों के आला अधिकारी, प्रमंडलीय आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, सभी जिलों के डीएम व एसपी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री ने इस आशय के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों से संबंधित जिलों का हाल भी लिया। 

बाहर से आए लोगों की अधिक से अधिक जांच कराएं

मुख्यमंत्री ने यह हिदायत दी कि बाहर से आ रहे लोगों में से ज्यादा से ज्यादा की जांच करायी जाए। क्वारंटाइन केंद्रों तथा होम क्वारंटाइन में रह रहे लोगों की नियमित स्क्रीनिंग एवं जांच की जाए। पल्स पोलियो की तर्ज पर चलायी जा रही डोर टू डोर स्क्रीनिंग का लगातार फालोअप भी करते रहें। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में कोरोना संक्रमण को ले काफी जागरूकता है। 

डीएम अपने जिले में स्किल मैपिंग के हिसाब से रोजगार को ले काम करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर से आए लोगों को यहीं रोजगार मिले ताकि वे यहां रहकर अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकें। किसी के सामने मजबूरी में बाहर जाने की नौबत नहीं आए। लोग यहीं रहकर काम करना भी चाहते हैैं। उनके रोजगार सृजन को ले विकास आयुक्त की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स भी गठित है। सभी डीएम अपने-अपने जिले में स्किल मैपिंग के अनुसार इस संबंध में समुचित कार्रवाई करें।

आइसोलेशन बेड्स बढ़ाने का आकलन कर लें

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में आवश्यक सुविधाओं के साथ आइसोलेशन बेड्स की संख्या बढ़ाएं। जिलाधिकारी अपने स्तर से इसका आकलन कर शीघ्र आवश्यक कार्रवाई करें। 

खास बातें 

  • कोरोना संक्रमण के नियंत्रण को ले मुख्यमंत्री ने आला अधिकारियों के साथ की वीडियो कांफ्रेंसिंग
  • बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक जांच कराए जाने का निर्देश
  • डोर टू डोर स्क्रीनिंग का लगातार फॉलोअप करने को कहा
  • सभी जिलों को आइसोलेशन बेड्स का त्वरित आकलन करने की हिदायत

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021