पटना, जागरण टीम। बिहार में कोरोना संकट का दायरा कभी धीरे तो कभी तेज रफ्तार में बढ़ता जा रहा है। बुधवार को एक और मरीज कोरोना पॉजिटिव मिला है, जबकि मंगलवार को छह पॉजिटिव केस सामने आए थे। नया केस नवादा से जुड़ा है। वहीं, बुधवार को नीतीश कैबिनेट की बैठक हुई। इसमें बड़ा फैसला लिया गया। मंत्रियों, विधायकों व पार्षदों के 15 प्रतिशत की वेतन कटौती पर कैबिनेट की मुहर लग गई। इस कटौती का कांग्रेस ने स्‍वागत किया है। वहीं, मुंगेर के हवेली खड़गपुर में आइबी की रिपोर्ट पर एक महिला को क्‍वारंटाइन सेंटर भेजा गया है। कोराेना राउंडअप में पढ़ें बुधवार की दिनभर की खबरें। 

चिराग ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का दिया सुझाव

जमुई: लोजपा सुप्रीमो व सांसद चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके बीच बुधवार को हुई बातचीत का एक वीडियो जारी किया है। पहले से तय इस वीडियो कांफ्रेंङ्क्षसग में सांसद ने लॉकडाउन को जरूरत के हिसाब से बढ़ाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंङ्क्षसग ही इस महामारी का एकमात्र उपाय है। इसलिए लॉकडाउन को जरूरत के हिसाब से और आगे बढ़ाया जाय। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि इस मुद्दे पर पूरा देश आपके साथ है। अगर लॉकडाउन खोला भी जाता है तो इतना आग्रह जरूर करूंगा कि इसको फेजवाइज किया जाय। कम से कम इंटर स्टेट और इंटर डिस्ट्रिक्ट सीमाएं सील होनी चाहिए, ताकि लोग एक-दूसरे प्रदेश या जिले में प्रवेश न कर सकें। शहरी क्षेत्रों में मॉल और स्कूलों को बंद रखना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों में इसकी अलग व्यवस्था होनी चाहिए।

आइबी की रिपोर्ट पर महिला को भेजा गया क्वारंटाइन सेंटर

मुंगेर। हवेली खडग़पुर नगर पंचायत अंतर्गत एक मुहल्ले से पुलिस ने बुधवार की देर शाम एक महिला को जांच के लिए जमालपुर के क्वारंटाइन सेंटर भेजा। महिला पर तब्लीगी जमात में शामिल होने का संदेह है। इंटेलीजेंस ब्यूरो (आइबी) की रिपोर्ट में बताया गया था कि महिला तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल हुई थी और गुपचुप तरीके से अपने घर में रह रही थी। हालांकि महिला ने प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि वह मरकज में शामिल नहीं हुई है। इधर, जैसे ही आइबी की रिपोर्ट खडग़पुर प्रशासन को मिली, वैसे ही प्रशासनिक महकमे में हलचल मच गई। बीडीओ उपेंद्र दास, कार्यपालक पदाधिकारी मृत्युंजय कुमार, सीओ हलेंद्र कुमार ङ्क्षसह, थानाध्यक्ष ङ्क्षमटू कुमार ङ्क्षसह, बीएओ राणा प्रताप ङ्क्षसह की एक टीम पुलिस बल के साथ महिला के घर पहुंची। इसके बाद महिला को स्वास्थ्य जांच के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, हवेली खडग़पुर ले जाया गया। जहां से उसे जमालपुर में बने क्वारंटाइन सेंटर में भेज दिया गया। इधर, थानाध्यक्ष ङ्क्षमटू कुमार ङ्क्षसह ने कहा कि महिला के घर पर क्वारंटाइन को लेकर पर्चा चिपकाया गया है।

तीन महीने की स्कूल फीस माफ कराए सरकार : तेजस्वी

पटना। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आर्थिक संकट के चलते बिहार सरकार से विद्यार्थियों के स्कूल की तीन महीने की फीस माफ कराने का आग्र्रह किया है। तेजस्वी ने कहा कि लॉकडाउन के चलते कई परिवारों की आर्थिक स्थिति तबाह हो गई है। किसानों, मजदूरों एवं छोटे कारोबारियों -व्यापारियों के सामने खाने के लाले हैं। किसानों के सामने पहले से ही संकट है। उनकी खरीफ फसलें बाढ़ एवं सुखाड़ की चपेट में आ गई थीं। रबी फसलें भी बेमौसम बारिश की भेंट चढ़ चुकी हैं। ऐसे में वे अपने बच्चों की स्कूल फीस भरने में असमर्थ हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसे लाखों किसान हैं, जिन्होंने अपने बच्चों का नामांकन निजी स्कूलों में करा रखा है। लॉकडाउन के चलते वे फीस भरने की स्थिति में नहीं हैं। सरकार को चाहिए कि स्कूलों पर दबाव डालकर उनकी तीन महीने की फीस माफ करा दी जाए और जो विद्यार्थी छात्रावासों में रहते हैं, उन्हें विशेष आर्थिक मदद दी जाए। तेजस्वी ने मकान मालिकों एवं कोचिंग संस्थानों से भी आग्र्रह किया है कि लॉकडाउन को देखते हुए वे कुछ महीने के लिए किराया न वसूलें। 

थानेदार व समाजसेवी किये गये सम्‍मानित

पटना: कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में लोगों की मदद करने के लिए भाजपा युवा माेर्चा की ओर से कंकङबाग के थानाध्‍यक्ष मनोरंजन भारती, अगमकुंआ थाना प्रभारी डॉ आमोद कुमार, पटना दक्षिण नागरिक संघर्ष समिति के अध्यक्ष दीपक कुमार अग्रवाल को अंग वस्‍त्र, स्मृति चिह्न व प्रशस्ति पत्र देकर सम्‍मानित किया। भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश प्रभारी संजय कुमार गुप्ता ने सम्मानित करते हुए बताया कि इस संकट की घड़ी में अपनी जान की परवाह किए बिना नौ दिनों से जरूरतमंदों को भोजन के अलावा सूखा राशन भी उपलब्ध करा रहा है। इस अवसर पर प्रदीप झा, भाजपा पटना महानगर के हीरा सिंह, कमलेश मिश्रा, अर्चना राय, अजय सिंह आदि मौजूद रहे। 

गया में ड्रोन से घरों को कराया जा रहा सैनिटाइज 

गया । कोरोना वायरस के संक्रमण से शहरवासियों को बचाने के लिए नगर निगम ने बड़ी पहल की है। निगम की ओर से शहर के सभी 53 वार्डों के प्रत्येक घरों को सैनिटाइज कराने की रणनीति बनाई गई है। इसके लिए दिल्ली से दो स्प्रेयर ड्रोन मंगाए गए हैं। बुधवार से मेयर वीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में ड्रोन से घरों को सैनिटाइज कराने की शुरुआत करा दी गई। गया नगर निगम ड्रोन के जरिये घरों को सैनिटाइज कराने वाला पहला नगर निगम बताया जाता है। 

सत्रह हजार लोगों ने बिहार भवन हेल्प लाइन पर फोन किए

पटना: लाकडाउन में बिहार के बाहर फंसे अप्रवासी श्रमिकों के फोन लगातार बिहार भवन स्थत हेल्पलाइन नंबर पर पहुंच रहे हैं। बिहार भवन से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को 17,144 लोगों ने हेल्पलाइन नंबर पर फोन किए। वहीं 2,204 लोगों ने व्हाट््सएप व अन्य माध्यमों से संपर्क किया। इसके अतिरिक्त 17,631 लोगों ने गूगलडॉक पर आवेदन किया। नियंत्रण कक्ष द्वारा 7,76,639 लोगों की मदद की गयी।

यूपी से रिक्शे से बेटों संग पहुंचे पिता, खांसने पर मची भगदड़

गोपालगंज। लॉकडाउन के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे लोगों का अपने संसाधनों से बिहार आना जारी है। कोई पैदल, कोई जुगाड़ गाड़ी तो कई रिक्शे से घर पहुंच रहा है। बुधवार को उत्तर प्रदेश के रुड़की से अपने बुजुर्ग पिता को बैठाकर दो भाई गोपालगंज जिले के हथुआ प्रखंड अंतर्गत बड़कागांव पहुंचे। बुजुर्ग अचानक खांसने लगे। जोर-जोर से खांसते देख सामान खरीदने आए लोग भागने लगे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों को क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया है। बुजुर्ग सर्दी-खांसी से पीडि़त हैं। पिता टिमल पडि़त को बैठाकर लाने वाले बेटों रामायण पडि़त और छबीला पडि़त ने बताया कि तीनों रुड़की में रिक्शा चलाते थे। लॉकडाउन के बाद वहीं फंस गए। पिता की तबीयत बिगड़ गई। सर्दी-खांसी हो गई। ऐसी स्थिति में पिता को रिक्शे पर बैठाकर वे अपने गांव मीरगंज थाना क्षेत्र के फतेहपुर टोला ङ्क्षजदा पट्टी के लिए निकल पड़े। बड़कागांव पहुंचने पर अचानक पिता को खांसी आने लगी।

सीतामढ़ी में दो दर्जन किन्नर कर रहे जरूरतमंदों की मदद

सीतामढ़ी। कोरोना संकट की इस घड़ी में किन्नर भी लोगों से मांगने की जगह जरूरतमंदों की मदद कर रहे। सीतामढ़ी शहर के भावदेपुर वार्ड 21 निवासी दो दर्जन किन्नर गली-गली घूमकर लोगों को जागरूक करने के साथ ही  मास्क, सैनिटाइजर व खाने-पीने का सामान बांट रहे। आपसी सहयोग से ये अब तक करीब एक लाख रुपये का सामान बांट चुके हैं। लॉकडाउन के बाद गरीबों की समस्या देखते हुए यहां रहने वाले 26 किन्नरों ने एक टीम बना 'मिलकर कोरोना को हराना है' जागरूकता अभियान की शुरुआत की। किन्नर ज्योति ने बताया कि हम हमेशा उपेक्षित रहे, लेकिन हमने समाज को अपना माना है। किन्नर सान्या ने कहा कि लॉकडाउन खत्म होने तक अभियान चलेगा। 

1.30 करोड़ बच्चों को दी गई मिड-डे मील की राशि

पटना। बिहार सरकार ने लॉकडाउन की स्थिति 1 से 14 अप्रैल तक स्कूलों में मिड-डे मील बंद होने के चलते 1 करोड़ 29 लाख 97 हजार 269 विद्यार्थियों के खाते में 69 करोड़ 76 लाख 26 हजार 947 रुपये मुहैया कराया है। मिड-डे मील योजना के निदेशक कुमार रामानुज ने बुधवार को बताया कि मिड-डे मील योजना की राशि सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में पढऩे वाले पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्र-छात्राओं को दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कक्षा 1 से 5 तक के 84 लाख 35 हजार 737 छात्र-छात्राओं के खातों में 38 करोड़ 53 लाख 44 हजार 466 रुपये भेजे गए हैं। जबकि कक्षा 6 से 8 तक के 45 लाख 61 हजार 532 विद्यार्थियों के खातों में 31 करोड़ 22 लाख 82 हजार 481 रुपये भेजे गए।

कक्षा 10 को छोड़कर 1 से 11 तक  के सभी विद्यार्थी बगैर परीक्षा प्रमोट

पटना। बिहार सरकार ने शैक्षणिक सत्र 2019-20 में कक्षा 1 से 11 तक (क्लास 10 को छोड़कर) के सभी छात्र-छात्राओं को बगैर वार्षिक परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया है। इससे प्रदेश के करीब दो करोड़ 28 लाख विद्यार्थी अगली कक्षा में पहुंच गए हैं। शिक्षा विभाग की ओर से बुधवार को अधिसूचना जारी कर दी गई। शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज ने सरकार के इस फैसले का अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश सभी संबंधित प्राचार्यों और प्रधानाध्यापकों को दिया है। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के चलते संबंधित कक्षाओं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा नही हुई थी। 

नालंदा में ई-रिक्शा चालक बेचेंगे फल-सब्जियां

नालंदा। लॉकडाउन के दौरान बेरोजगारी की मार झेल रहे ई-रिक्शा चालकों को रोजगार और लॉकडाउन में घर पर ही फल-सब्जी उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन ने नया तरीका निकाला है। ई-रिक्शा चालकों को गलियों में जाने की अनुमति दे दी है। 91 ई-रिक्शा चालकों को पास निर्गत किया गया है। लॉकडाउन को लेकर 24 मार्च से जिले में ई-रिक्शा का परिचालन बंद था। ये सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए फल और सब्जी बेचेंगे। ताकि लोग अनावश्यक सड़कों पर भीड़ न लगा सकें और जरूरत का सामान घर पर मिल सके। 

नवादा में पोलियो की तरह चलेगा 'कोविड-19' सघन खोज अभियान

नवादा। बिहार के नवादा जिले में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई केस भले नहीं मिला है, लेकिन जिलाधिकारी यशपाल मीणा ने पोलियो की तर्ज पर कोरोना के संक्रमित या संदिग्ध मरीज की खोज के लिए अभियान चलाने का निर्देश जारी किया है। अगले एक सप्ताह तक चलने वाले इस अभियान को 'कोविड-19' सघन खोज अभियान नाम दिया गया है। पोलियो उन्मूलन अभियान की तर्ज पर आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका अपने -अपने क्षेत्रों में घर-घर जाकर संदिग्धों को चिह्नित करेंगी।

आइसोलेशन सेंटर में भर्ती युवक नशे में गिरफ्तार

पूर्वी चंपारण। छौड़ादानो प्रखंड क्षेत्र के जुआफर मध्य विद्यालय स्थित आइसोलेशन सेंटर में भर्ती एक युवक को पुलिस ने शराब के नशे में गिरफ्तार किया। वह जुआफर गांव का निवासी है और हाल में ही नेपाल से लौटा था। जांच के बाद उसे यहां क्वारंटाइन किया गया था। जहां मंगलवार की रात वह शराब पी रहा था। ग्र्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। मेडिकल जांच के बाद डॉ. एजाज अहमद ने बताया कि वह शराब के नशे में था। बीडीओ अनामिका कुमारी ने कहा कि गिरफ्तार युवक को छौड़ादानो स्थित हेमराजदास उच्च विद्यालय के आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है। आइसोलेशन अवधि बीतने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाएगा। मुखिया सोनू कुमार ने कहा कि इससे पूर्व भी उक्त युवक आइसोलेशन सेंटर से घर भाग गया था । इस बाबत बीडीओ को सूचना दी गई थी। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस