पटना [राज्य ब्यूरो]। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के हाल में चले सदस्‍यता अभियान में पार्टी के हर विधायक (MLA) को 1200 सक्रिय सदस्‍य बनाने थे। लेकिन तीन विधायकों ने अभियान का बहिष्‍कार कर दिया। उन्‍होंने एक भी सक्रिय सदस्‍य नहीं बनाया। पार्टी ने उनकी पहचान कर ली है। खास बात सह है कि इनमें परसा के विधायक व पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के समधी चंद्रिका राय (Chandrika Rai) भी शामिल हैं। यह लालू यादव को झटके के रूप में देखा जा रहा है।

चंद्रिका राय सारण जिले के परसा विधानसभा क्षेत्र के आरजेडी विधायक हैं। वे बीते लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में सारण से आरजेडी उम्मीदवार थे। लोकसभा चुनाव में उनकी उम्‍मीदवारी का विरोध उनकी बेटी ऐश्‍वर्या राय (Aisjwarya Rai) से तलाक (Talaq) का मुकदमा लड़ रहे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने किया था। बेटी ऐश्‍वर्या राय की स्थिति को लेकर हाल ही में चंद्रिका राय ने कहा था कि उन्‍हें शर्म अाती है कि उन्‍होंने लालू के घर में बेटी का रिश्‍ता कर दिया।

चंद्रिका राय को बनाने थे 1200 सक्रिय सदस्य

चंद्रिका राय को विधायक के नाते 1200 सक्रिय सदस्य बनाने था। पार्टी ने लोकसभा और विधानसभा के पराजित उम्मीदवारों को भी 1200 सक्रिय सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया था। अब जबकि सदस्यता का लेखा-जोखा हो रहा है, बताया गया है कि चंद्रिका राय इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाए। हालांकि, पार्टी पहले से ही मानकर चल रही थी कि वे सदस्यता अभियान में सहयोग नहीं करेंगे। इसलिए जिला इकाई को ही परसा विधानसभा क्षेत्र पर विशेष नजर रखने के लिए कह दिया गया था।

केवटी के विधायक डॉ. फराज भी रहे सुस्त

इसी श्रेणी में दरभंगा जिला के केवटी के विधायक डॉ. फराज (Dr. Faraz) भी हैं। फराज की सुस्ती की वजह उनके पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अली अशरफ फातमी (Ali Ashraf Fatmi) हैं, जो  जनता दल यूनाइटेड (JDU) में चले गए हैं। माना जा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में फराज जेडीयू उम्मीदवार होंगे। उन्होंने पिछली बार भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अशोक यादव (Ashok Yadav) को पराजित किया था। अशोक यादव अब मधुबनी से बीजेपी सांसद हैं, इसलिए केवटी में फराज का रास्‍ता साफ दिख रहा है।

विधायक महेश्वर यादव भी किया किनारा

गायधाट के आरजेडी विधायक महेश्वर यादव (Maheshwar Yadav) आरजेडी में तेजस्वी यादव (Tejeshwi Yadav) की तीखी आलोचना और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की तारीफ  करने के लिए जाने जाते हैं। आरजेडी उनके क्षेत्र गायघाट के लिए किसी और उम्मीदवार की खोज भी कर रहा है। ऐसे में पार्टी को अपेक्षा नहीं थी कि वे सदस्यता अभियान में हिस्सा लेंगे। उन्‍होंने भी ऐसा ही किया।

 

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप