राज्य ब्यूरो, पटना: कुछ समय पहले तक बिहार की गिनती कम वैक्सीन बर्बाद करने वाले राज्यों में हो रही थी वहीं बिहार अब देश के उन राज्यों में शुमार हो गया है जहां वैक्सीन सबसे ज्यादा बर्बाद हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने वैक्सीन बर्बाद करने वाले राज्यों की एक सूची बनाई है। जिसमें बिहार छठे से खिसक कर पांचवे पायदान पर आ गया है। वैक्सीन बर्बाद करने वाले प्रमुख राज्य में सबसे पहले नंबर पर हरियाणा है। इसके बाद असम, राजस्थान और मेघालय का नंबर आता है।

बिहार में 5.20 फीसद वैक्सीन की बर्बादी

इन चार राज्यों के बाद बिहार का स्थान है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आकलन के अनुसार बिहार में 5.20 फीसद वैक्सीन बर्बाद हो रही है। कुछ समय पहले तक बिहार में औसतन 4.96 फीसद वैक्सीन ही बर्बाद हो रही थी। हरियाणा में 6.4 फीसद, असम 5.92 फीसद, राजस्थान 5.68 फीसद, मेघालय 5.67 फीसद वैक्सीन बर्बाद कर रहे हैं। 

तीन दिन में बढ़ गया आंकड़ा

स्वास्थ्य विभाग के सूत्र बताते हैं कि जब तक 45 से अधिक उम्र के लोगों या फिर स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंटलाइन वर्करों का टीकाकरण हो रहा था उस वक्त तक बिहार में 2.9 फीसद से लेकर कुछ समय पहले तक 4.96 फीसद वैक्सीन की बर्बाद हो रही थी, लेकिन विगत तीन दिन जब से 18-45 उम्र वालों का टीकाकरण शुरू हुआ है वैक्सीन की बर्बादी का प्रतिशत बढ़ गया है।