मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पटना, जेएनएन। बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) ने मंगलवार को 63वीं संयुक्त मुख्य लिखित प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। इसमें 924 अभ्यर्थी क्वालीफाई घोषित किए गए हैं, जो साक्षात्कार में शामिल होंगे। आयोग ने सफल अभ्यर्थियों की सूची वेबसाइट (www.bpsc. bih.nic.in) पर अपलोड कर दी है। 

संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि 355 पदों के लिए मुख्य परीक्षा में 4257 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा 12 से 17 जनवरी के बीच आयोजित की गई थी। प्रारंभिक परीक्षा पिछले साल एक जुलाई को हुई थी। प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होने के लिए 90 हजार से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इसके आधार पर बिहार प्रशासनिक सेवा के 31, बिहार पुलिस सेवा के छह, बिहार वित्त सेवा के 123, नियोजन पदाधिकारी के तीन, बिहार कारा सेवा के नौ, बिहार निबंधन सेवा के 16, बिहार श्रम सेवा के 11, सहायक निबंधक के एक, राजस्व अधिकारी के 19, उत्पाद निरीक्षक के 13 तथा श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी के 123 पदों पर चयन होना है। 

27 अगस्त से प्रारंभ होगा साक्षात्कार 
परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि मुख्य लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 27 अगस्त से प्रारंभ होगा। इसका शिड्यूल जल्द ही वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा। साक्षात्कार के शिड्यूल की जानकारी अभ्यर्थियों को वेबसाइट के माध्यम से ही दी जाएगी। आयोग के अधिकारियों के अनुसार सितंबर के अंतिम सप्ताह में फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन संभावित है। दुर्गापूजा से पहले संबंधित विभागों को चयनित अभ्यर्थियों की सूची उपलब्ध करा दी जाएगी। 

सामान्य कोटि की 168 रिक्तियों के लिए 444 क्वालीफाई 
साक्षात्कार में सामान्य श्रेणी के 444 अभ्यर्थी 168 पदों के लिए शामिल होंगे। अनुसूचित जाति के 58 पदों के लिए 153, अनुसूचित जनजाति के दो पदों के लिए पांच, अत्यंत पिछला वर्ग के 84 पदों के लिए 213, पिछड़ा वर्ग के 26 पदों के लिए 66 तथा पिछड़ा वर्ग की महिला के 17 पदों के लिए 43 अभ्यर्थियों ने क्वालीफाई किया है। सभी श्रेणी में महिलाओं को 35 फीसद, दिव्यांग को चार फीसद तथा भूतपूर्व स्वतंत्रता सेनानियों के रिश्तेदारों को दो फीसद क्षैतिज आरक्षण का लाभ मिलेगा।  

मूल प्रमाणपत्र के अभाव में चयन से होंगे वंचित 
परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि साक्षात्कार के दौरान शैक्षणिक योग्यता संबंधित सभी मूल अंक व प्रमाणपत्र एवं आरक्षण के लाभ के लिए संबंधित प्रमाणपत्र लाना अनिवार्य है। इसके अभाव में अभ्यर्थी के फाइनल रिजल्ट का प्रकाशन नहीं किया जाएगा। अंक व प्रमाणपत्र उपलब्ध कराने के लिए अतिरिक्त समय दिया जाएगा। आरक्षित वर्गों की महिला अभ्यर्थियों को पिता के नाम से बना जाति प्रमाणपत्र, क्रीमी लेयर रहित प्रमाणपत्र अनिवार्य रूप से प्रस्तुत कर सत्यापन कराना होगा। 

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप