जागरण टीम, पटना। वीर सवारकर को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ के बयान पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने कटाक्ष किया है। वीडियो पर ट्वीट करते हुए कहा कि तारीख नोट कीजिए! भाजपाइयों को गांधीजी को बदनाम करने का यह ऐतिहासिक आइडिया कल ही सूझा है! जवाब में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तंज कसा है। ट्वीट करते हुए कहा है कि हनुमान चालीसा पढ़िए, दिमागी संतुलन ठीक हो जाएगा।

राजनाथ सिंह ने दो दिन पहले एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा था कि सावरकर के खिलाफ झूठ फैलाया गया है। बार-बार कहा गया कि अंग्रेजी सरकार के सामने उन्होंने अनेकों बार मर्सी पिटीशन (दया याचिका) फाइल की। राजनाथ ने बताया कि महात्मा गांधी के कहने पर उन्होंने मर्सी पिटीशन फाइल की थी। गांधी ने कहा था कि जैसे हम आजादी के लिए शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन चला रहे हैं वैसे ही सावरकर भी चलाएंगे। राजनाथ ने कहा कि सावरकर को बदनाम करने के लिए क्षमा और रिहाई मांगने की बात की जाती है, यह बेबुनियाद है। 

ऐतिहासिक आइडिया कल ही सूझा है!

राजनाथ के इसी बयान के वीडियो को ट्वीट करते हुए राजद ने लिखा कि संघियों ने अब अपनी गद्दारी पर बड़ी मक्कारी से महात्मा गांधी जी का लेबल चिपकाना शुरू कर दिया है! ये धूर्त निर्लज्ज झूठ की हर सीमा पार कर सकते हैं! तारीख नोट कीजिए! भाजपाइयों को गांधीजी को बदनाम करने का यह ऐतिहासिक आइडिया कल ही सूझा है!

बीजेपी ने राजद को बताया लाठीबाज पार्टी

राजद के इस बयान पर बीजेपी ने पलटवार किया। भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर आरजेडी के ट्वीट को कोट करते हुए लिखा, प्रिय राजद, धूर्तता, निर्लज्जता, मक्कारी, गद्दारी जैसे शब्दों पर तो आपकी लाठीबाज पार्टी का कॉपीराइट है। राजनाथ सिंह का वक्तव्य सही इतिहास को जानने के इच्छुक आम भारतवासियों के लिए है, वंश विशेष के चारणों के लिए नहीं। हनुमान चालीसा पढ़िए, दिमागी संतुलन ठीक हो जाएगा।

Edited By: Akshay Pandey