पटना, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ गुरुवार को आयोजित वाम दलों के बिहार बंद का भाजपा एमएलसी संजय पासवान ने विरोध किया। साथ ही उनके नेतृत्व में 'कबीर के लोग' बैनर के तहत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बिहार बंद का प्रतिकार किया। संस्‍था के लोग बंद को असफल बनाने के लिए सड़क पर उतरे। इसमें भाजपा एमएलसी के अलावा पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता भी शामिल थे।

भाजपा एमएलसी संजय पासवान के नेतृत्व में सड़क पर उतरकर समर्थकों ने बंद विराधी नारे लगाए। मौके पर संजय पासवान ने वामदलों पर कटाक्ष करते हुए बताया कि जो लोग बंद करवा रहे हैं, वे लोग शरारती तत्व हैं। बंद में शामिल लोग गरीब और दलित विरोधी लोग हैं।

उन्‍होंने ने कहा कि ये वही लोग हैं जो गरीबों का भला नहीं चाहते हैं। उन्‍होंने कहा कि आज की बंदी पूरी तरह से फेल है और हम सड़क पर उतर कर इसका विरोध कर रहे हैं। इस बंद को हमलोग बिल्कुल फेल साबित कर देंगे।बिहार ही नहीं, पूरे देश में विरोधियों का कुछ नहीं चलेगा। विरोधी केवल हंगामा करना जानते हैं।   

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश भर में प्रदर्शन हो रहा है। इस कानून के खिलाफ विपक्षी पार्टियां लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ हंगामा और प्रदर्शन कर रही है। वाम दलों समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने इस कानून को मुसलमानों के खिलाफ बताया है। इसी काे लेकर गुरुवार को जहां वामदलों ने बिहार बंद कराया, वहीं राजद की ओर से 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान किया गया है। इसे लेकर राजद ने गुरुवार को नुक्‍कड़ सभाओं का आयोजन किया है, वहीं शुक्रवार की शाम में मशाल जुलूस निकालेगा। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस