पटना, जेएनएन। पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव के दौरान एबीवीपी और जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के बीच हुए विवाद के बाद बीजेपी और जदयू में तल्खी बढ़ गई है। नीतीश मंत्रिमंडल में बीजेपी कोटे से मंत्री प्रमोद कुमार ने नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया है। उनके बयान से बिहार एनडीए में बयानबाजी शुरू हो गयी है। जदयू ने उनके बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। 

कला संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार शुक्रवार को जहानाबाद के एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। कार्यक्रम में उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को हम बुलाने नहीं गए थे, वह खुद हमारे पास आए थे।

उन्होंने कहा कि कभी बीजेपी को जुमला पार्टी कहने वाले नीतीश आज बीजेपी के साथ ही हैं। उन्हें हम बुलाने नहीं गए थे। उन्होंने लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए सवालिया लहजे में कहा कि बीजेपी को कोसने वाले लालू आज कहां हैं? 

इस दौरान मंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा बीजेपी को कोसने वाले मां-बेटे आज जमानत का पेपर लेकर घूम रहे हैं।

बीजेपी मंत्री प्रमोद कुमार के बयान के बाद जदयू नेताओं ने तल्ख टिप्पणी की है। जदयू के विधान पार्षद दिलीप चौधरी ने कहा कि पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार की यह हैसियत नहीं है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में कुछ भी बयान दें। 

दिलीप चौधरी ने कहा कि प्रमोद कुमार को पता होना चाहिए कि वह बिहार सरकार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री हैं। उनके बारे में कुछ भी बोलने से पहले उन्हें विचार कर लेना चाहिए था। दिलीप चौधरी ने कहा कि इस तरह के बयान से कोई लाभ मिलने वाला नहीं है। 

Posted By: Kajal Kumari