पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Weather Forecast: बिहार में मौसम के मिजाज में बदलाव देखने को मिल रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र, पटना से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन दिनों मानसून की ट्रफ-लाइन जैसलमेर, अजमेर, डाल्टेनगंज, जमशेदपुर, दीघा होते हुए पूर्व बंगाल की खाड़ी की ओर गुजर रही है। वहीं चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र उत्तर-पूर्व मध्यप्रदेश एवं समीपवर्ती दक्षिण-उत्तरप्रदेश में बना है। यह समुद्रतल से 4.5 किमी तक फैला है। साथ ही साथ कम दबाव का क्षेत्र पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में बना है, जो 48 घंटों के दौरान पश्चिम उत्तर दिशा की ओर बढ़ते हुए ओडिशा तट पर पहुंचने का अनुमान है। इसका आंशिक प्रभाव राज्य पर पड़ने की संभावना है। इसके कारण राज्‍य में बारिश होने का अनुमान है।

अक्‍टूबर के पहले हफ्ते में अच्‍छी बारिश के आसार

इन सभी मौसमी प्रभाव के कारण 24-48 घंटों के दौरान राज्य के पश्चिमी भागों के कुछ स्थानों पर व शेष बिहार के एक या दो स्थानों पर हल्के से मध्यम स्तर के बारिश की संभावना है। बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश के भभुआ में 50.2 मिमी, मोहनिया में 47.2 मिमी, कुदरा में 40.8 मिमी, चेनारी में 40.6 मिमी, नवादा में 14.4 मिमी दर्ज की गई। मौसम विज्ञानी संजय कुमार ने बताया कि फिलहाल राज्‍य में अच्छी बारिश के आसार नहीं दिख रहे। राज्य में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश की स्थिति ही बनी है। दूसरी ओर अक्टूबर के पहले सप्ताह राज्य में अच्छी बारिश की संभावना जताई जा रही है।

मान‍सून की विदाई बनाने का फिलहाल कोई संकेत नहीं

प्रदेश में बारिश की सक्रियता धीरे-धीरे कम होती जा रही है। वहीं दूसरी ओर मानसून की विदाई को लेकर असमंजस की स्थिति बनी है। मौसम विज्ञान केंद्र को मानसून की विदाई को लेकर अभी तक कोई संकेत नहीं मिल पाया है। अभी सिर्फ अटकलें लगाई जा रही हैं। मौसम विज्ञानी संजय कुमार ने मौसमी विश्लेषण के आधार पर बताया कि मानसून की विदाई पश्चिमी राजस्थान से होता है। लेकिन वहां पर अभी  उच्च दबाव का क्षेत्र बना है। मानसून विदाई को लेकर अभी कोई संकेत नहीं मिला है।