पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। बिहार में आठ जून की रात 12 बजे तक लॉकडाउन-4  लागू है। इसके पहले सरकार अब अनलॉक पर मंथन कर रही है। सोमवार को सभी जिलों के डीएम से फीडबैक लेने के साथ ही वरीय अफसरों से विचार विमर्श किया जाएगा। हालांकि मंगलवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में इस पर अंतिम फैसला होगा।  मंगलवार( 8 जून) को अपराह्न 11:30 बजे लाॅकडाउन को लेकर बैठक बुलाई गई है।  बैठक में राज्य के मुख्य सचिव, विकास आयुक्त के साथ गृह विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारी और डीजीपी शामिल होंगे।  इसके बाद सीमए नीतीश कुमार कुछ रियायतों के साथ अनलॉक की घोषणा कर सकते हैं। हालांकि अचानक ही सब कुछ अनलॉक नहीं होगा। बिहार में 31 मार्च के बाद संक्रमण दर काफी कम हुआ है। कोविड के दूसरे लहर की पीक के वक्‍त जहां एक दिन में पूरे राज्‍य से 15 हजार तक मामले मिले थे अब यह घटकर एक हजार हो गया है।  पटना जिला में शनिवार को 100 से भी कम नए केस मिले हैं। जिसे देखते हुए दिल्ली की तर्ज पर बिहार को अनलॉक करने पर विचार हो रहा है।

दुकानों को खोलने के लिए बढ़ाया जा सकता है समय

सूत्रों के अनुसार, नए आदेश में दुकानों को खोलने के लिए अधिक समय मिल सकता है। नौ जून से रात आठ बजे तक दुकानाें को खोलने की छूट दी जा सकती है। वर्तमान में जरूरी समान के दुकान सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक खुलते है। अन्‍य प्रतिष्‍ठान ऑल्‍टरनेट डे खुलते हैं। नौ जून से सभी तरह के प्रतिष्‍ठानों को खुुलने की छूट दी जा सकती है। हालांकि इस दौरान पहले की तरह ही नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। इसके अलावा निजी कार्यालयों को भी कुछ शर्तों के साथ छूट दी जा सकती है। सरकार की सोच है कि  धीरे-धीरे अनलॉक किया जाए, ताकि बाजार और सार्वजनिक स्थलों पर बेवजह की भीड़ न हो।

  • 5-15 मई तक था लाकडाउन-1
  • 16-25 मई तक था लाकडाउन-2
  • 26 मई से एक जून तक लाकडाउन-3
  • 02 जून से आठ जून तक लाकडाउन-4

संक्रमण रोकने में प्रभावी रहा है लाॅकडाउन

कोरोना संक्रमण को रोकने में लाॅकडाउन काफी प्रभावी रहा है। पांच मई को जब लाॅकडाउन लगाया गया तो राज्य में हर दिन करीब 15 हजार मामले सामने आ रहे थे जो धीरे-धीरे घटते हुए अब करीब एक हजार तक आ गए हैं। अनलाॅक से लोगों के लापरवाह होने की आशंका है, जिससे संक्रमण दर फिर बढ़ सकती है। ऐसे में सरकार धीरे-धीरे ही छूट का दायरा बढ़ाने की तैयारी में है।

गाइडलाइन में हो सकते हैं ये बदलाव

सूत्रों की मानें तो फिलहाल स्‍कूल, कॉलेजों सहित सभी शै‍क्षणिक संस्‍थान बंद रहेंगे। 10वीं और 12 वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्‍ट बनाने और एडमिशन प्रक्रिया शुरू करने के लिए कॉलेजों और उच्‍च शिक्षण संस्‍थानों को सीमित छूट दी जा सकती है।  इसके अलावा व्‍यापार में और छूट दी जा सकती है। मॉल्‍स, बाजार और सभी तरह की दुकानों को रात आठ बजे तक खुलने की छूट दी जा सकती है। हालांकि नाइट कर्फ्यू पहले की तरह ही प्रभावी रहेगा। शादी-समारोहों और श्राद्ध में कुछ ज्‍यादा लोगों को शामिल होने की छूट हो सकती है। वर्तमान में शादी या श्राद्ध में सिर्फ 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं। जिम, पार्क, स्‍टेडियम पहले की तरह ही बंद रहेंगे।

Edited By: Sumita Jaiswal