राज्य ब्यूरो, पटना: पटना समेत स्मार्ट सिटी की रेस में चुने गए बिहार के शहरों को प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए अब अतिरिक्त समय मिल गया है। केंद्र सरकार ने पांच साल के लिए निर्धारित स्मार्ट सिटी मिशन परियोजना को दो साल का विस्तार दे दिया है। इसका सबसे पहला फायदा भागलपुर को मिला है। भागलपुर स्मार्ट सिटी के लिए वर्ष 2016 में चुना जाने वाला बिहार का पहला शहर था। पांच साल पूरा होने के कारण इसका कार्यकाल इसी साल पूरा हो गया था मगर अब विस्तार मिलने से प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए दो साल का समय अफसरों को मिल गया है। भागलपुर के लिए यह इसलिए भी राहत भरी खबर है क्योंकि यहां स्मार्ट सिटी से एक भी बड़ा प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ है। करीब 2240 करोड़ रुपये के 23 प्रोजेक्ट का टेंडर जरूर जारी है।

अगले साल पूरा हो रहा पटना व मुजफ्फरपुर का कार्यकाल

पटना और मुजफ्फरपुर को वर्ष 2017 में स्मार्ट सिटी के लिए चुना गया था। ऐसे में इसके पांच साल की समयावधि भी अगले साल वर्ष 2022 में पूरी हो रही है। अब सेवा विस्तार मिलने से दोनों शहरों को भी अपने लंबित प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए अतिरिक्त समय मिल जाएगा। बिहारशरीफ का चयन स्मार्ट सिटी में सबसे अंत में वर्ष 2018 में हुआ था। 

जल्द मिलेंगे स्मार्ट सिटी के कई तोहफे

पटना स्मार्ट सिटी के अंतर्गत 681 करोड़ रुपये से 12 प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो गया है। वहीं 1955 करोड़ रुपये की 40 प्रोजेक्ट का टेंडर जारी किया गया है। पटना में अदालतगंज तालाब के सौंदर्यीकरण, वीरचंद पटेल पथ मॉडल रोड, नौ जनसेवा केंद्र, सरकारी बिल्डिंग में सोलर रूफटॉप और गांधी मैदान में मेगा स्क्रीन का काम पूरा हो गया है। इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर, पब्लिक ट्रांसपोर्ट स्टैंड, मंदिरी नाला पुनॢवकास, थ्रीडी वॉल पेंटिंग का काम चल रहा है। 

मुजफ्फरपुर में काम तेज, बिहारशरीफ सबसे बेहतर

सबसे आखिरी में चुने जाने के बावजूद बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी का काम सबसे तेज गति से चल रहा है। जानकारी के अनुसार, यहां स्मार्ट सिटी योजना के तहत 552 करोड़ रुपये के 28 प्रोजेक्ट का निर्माण हुआ है, जबकि 1520 करोड़ रुपये के 47 प्रोजेक्ट का टेंडर जारी किया गया है। मुजफ्फरपुर ने भी धीमी शुरुआत की मगर अब वहां भी काम ने रफ्तार पकड़ी है। यहां अभी तक तीन करोड़ की लागत से एक प्रोजेक्ट पूरा हुआ है, जबकि 383 करोड़ की लागत के 21 प्रोजेक्ट का टेंडर जारी हो चुका है।

Edited By: Akshay Pandey