पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। Bihar School Reopen Latest Updates सात अगस्त से 50 फीसद विद्यार्थियों की उपस्थिति के साथ प्रदेश भर में नौवीं एवं 10वीं कक्षाओं के सभी सरकारी एवं निजी विद्यालय खुल जाएंगे। 15 अगस्त से पहली से आठवीं कक्षा तक के सभी विद्यालय भी खोल दिए जाएंगे। इस दिन बच्चे विद्यालयों में झंडोत्तोलन समारोह में शामिल होंगे। बच्चों की कक्षाएं 16 अगस्त से 50 फीसद उपस्थिति के साथ संचालित होंगीं। सभी विद्यालय में कोविड-19 प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करना होगा। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को इसकी जानकारी दी।

पांच अप्रैल को सरकार  ने बंद कर दिए थे शिक्षण संस्‍थान

बता दें कि कोरोना महामारी के चलते पांच अप्रैल, 2021 को सरकार ने सभी शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया था। इस प्रकार 123 दिनों के बाद नौवीं व दसवीं और 132 दिनों के बाद पहली से आठवीं कक्षा के विद्यालयों में शिक्षण कार्य आरंभ होंगे और इसी के साथ कैंपस में चहल-पहल लौटेगी। इससे पहले 12 जुलाई से दसवीं कक्षा से ऊपर शिक्षण संस्थान खोले गए थे।

शिक्षकों व कर्मियों का टीकाकरण अनिवार्य

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि शिक्षण कार्य शुरू होने से पहले शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए कोविड-19 संबंधी टीका लेना अनिवार्य है। विद्यालयों में कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन होगा। कक्षाओं एवं कैंपस में सुरक्षा, स्वच्छता और सफाई संबंधी तैयारियां सुनिश्चित करनी होंगी। इसका अनुपालन कराने हेतु सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों व जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। बच्चों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। इसमें कोई चूक की गुंजाइश नहीं होनी चाहिए।

दो पालियों में चलेंगे ज्यादा नामांकन वाले विद्यालय

शिक्षा मंत्री ने बताया कि कक्षाओं में पहले दिन 50 फीसद विद्यार्थियों की उपस्थिति रहेगी और बैठने के लिए कक्षाओं में छह फीट की दूरी सुनिश्चित करनी होगी। रोटेशन के तहत बाकी 50 फीसद विद्यार्थी अगले दिन आएंगे। अधिक नामांकन वाले शिक्षण संस्थान दो पालियों में कक्षाएं संचालित करेंगे। सभी विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए कैंपस में प्रवेश के लिए मास्क जरूरी किया गया है। कैंपस एवं सभी कक्षाओं, फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, भंडार कक्ष, पानी टंकी, किचेन वाशरूम, प्रयोगशाला और लाइब्रेरी की सफाई सुनिश्चित होगी। डिजिटल थर्मोमीटर, सेनेटाइजर, साबुन की व्यवस्था होगी। परिवहन व्यवस्था प्रारंभ किये जाने से पहले सेनेटाइजेशन होगी।

  • शर्तों के साथ खुलेंगे नौवीं-दसवीं के सभी सरकारी व निजी विद्यालय
  • शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने दी जानकारी
  • 50 फीसद विद्यार्थियों की उपस्थिति से संचालित होंगी कक्षाएं
  • कक्षाओं में छह फीट की दूरी पर बैठेंगे विद्यार्थी
  • कोविड-19 प्रोटोकाल का हर हाल में पालन अनिवार्य होगा
  • शिक्षकों व कर्मियों के लिए टीकाकरण अनिवार्य
  • प्रत्येक शिक्षण संस्थान में चिकित्सा सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश
  • आकस्मिक सुरक्षात्मक संबंधी तैयारी के लिए उत्तरादायी टीम गठित अनिवार्य

मालूम हो कि बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण की महामारी (CoronaVirus Pandemic) के कारण शिक्षण संस्‍थान (Educational Institutions) बंद पड़े थे। उन्‍हें क्रमवार खोलने के क्रम में बीते 12 जुलाई से 10वीं से उपर के शिक्षण संस्‍थानों में कोरोना गाइडलाइन (COVID-19 Guidelines) की शर्तों का पालन करते हुए पढ़ाई जारी है। 

 

Edited By: Amit Alok