राज्य ब्यूरो, पटना: स्थानीय निकाय कोटे से बिहार विधान परिषद की 24 सीटों के लिए होने वाले चुनाव को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में सहमति हो गई है। सीटों की संख्या को लेकर कोई मतभेद नहीं है। जल्द ही यह घोषणा संयुक्त रूप से होगी कि जदयू -भाजपा किन-किन सीटों पर लड़ेंगे, जदयू की ओर से अधिकृत शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा इस मसले पर किसी तरह की असहमति नहीं है। 

भाजपा की ओर से उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने शनिवार को शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से मिलकर 13-11 का प्रस्ताव दिया था। इसमें 13 सीटें भाजपा की होंगी औैर 11 जदयू की। भाजपा की ओर से यह कहा गया था कि अब जदयू को इस प्रस्ताव पर तय करना है। जदयू ने पूर्व में इस संदर्भ में अपने स्टैैंड पर यह कहा था कि वह फिफ्टी-फिफ्टी का फार्मूला चाहते हैं। जदयू सूत्रों के अनुसार भाजपा को पुन: इस फार्मूेले के बारे में कहा गया है। यानी 12 सीट पर जदयू और 12 पर भाजपा के प्रत्याशी होंगे।

यह कहा जा रहा कि इस पर सहमति संभव है। बता दें कि एक दिन पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कोर कमेटी की बैठक में 2015 के विधान परिषद चुनाव में जीती सभी सीटों पर चुनाव लड़ने पर सहमति बन गई थी। इसके साथ ही इस बात पर भी सहमति बनी थी कि जदयू के साथ आधिकारिक बातचीत के बाद ही किसी नतीजे पर पार्टी पहुंचेगी। शनिवार को हुई कोर ग्रुप की बैठक के बाद भाजपा ने अपने निर्णय से जेडीयू को अवगत करा दिया था। इस बैठक में कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए थे। प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल, राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी, पूर्व मंत्री नंदकिशोर यादव, संगठन महामंत्री भीखू भाई दलसामिया, उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, रेणु देवी, प्रेम कुमार, शाहनवाज हुसैन,विधान परिषद सदस्य राजेंद्र गुप्ता, मंत्री मंगल पांडेय, सम्राट चौधरी, जनक राम, एवं नवल किशोर यादव उपस्थित थे। 

Edited By: Akshay Pandey