पटना [जेएनएन]। बिहार में सिपाहियों के रिक्त पदों पर बहाली के लिए 64 हजार अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र निर्गत नहीं किया गया। प्रवेश पत्र नहीं मिलने से आक्रोशित अभ्यर्थियों ने सोमवार को राजधानी स्थित सचिवालय हाल्ट पहुंचकर सुबह 10 बजे से ही रेल परिचालन को ठप कर दिया।

आक्रोशित अभ्यर्थियों ने डाउन लाइन पर कुर्ला से आ रही 13202 एक्सप्रेस और पटना से खुली बक्सर सवारी गाड़ी को रोक दिया। इसके बाद छात्रों ने दोनों ट्रेनों पर पथराव किया। दोनों ट्रेनों के इंजन के लुकिंग ग्लास टूट गए। दोनों ट्रेनों के लोको पायलट इंजन में ही छिप गए।

यात्रियों ने अपने कोच की खिड़कियों को बंद कर पथराव से बचने की कोशिश की। सूचना पर पहुंची आरपीएफ ने स्थिति को संभाला और मामले में 100 से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज  किया है।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पटना जंक्शन से आरपीएफ की पूरी टीम इंस्पेक्टर वीएन कुमार के नेतृत्व में दल बल के साथ सचिवालय हाल्ट के पास घटनास्थल पर पहुंच गई। पहले तो हंगामा कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की।

जब तोडफ़ोड़ पर उतारू अभ्यर्थी नहीं मानें तो जवानों बलपूर्वक हंगामा कर रहे पुलिस अभ्यर्थियों को खदेड़ दिया। उपद्रवियों ने सुबह 10 बजे से लेकर 11.05 बजे तक अप व डाउन लाइन पर रेल परिचालन पूरी तरह ठप कर दिया। इस दौरान लंबी दूरी की ट्रेनें भी विभिन्न स्टेशनों पर फंसी रही। इस दौरान यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021