राज्य ब्यूरो, पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने त्योहारों को केंद्र में रख शनिवार को विधि-व्यवस्था की बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि त्योहारों को देखते हुए पुलिस पूरी तरह सतर्क रहे। अगर कोई गड़बड़ करने की कोशिश करता है तो पूरी सख्ती से कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराध नियंत्रण में किसी तरह की कोताही नहीं बरतें। अफवाह, द्वेष और नफरत फैलाने वाले असामाजिक तत्वों पर नजर रखें।

इंटरनेट मीडिया खास नजर रखने की हिदायत

इंटरनेट मीडिया के माध्यम से आपत्तिजनक टिप्पणी व पोस्ट से सांप्रदायिक तनाव एवं विवाद उत्पन्न करने वालों पर नजर रखें। उनसे निपटने के लिए साइबर क्राइम सेल सतत निगरानी करे। किसी घटना की सूचना मिलने पर त्वरित कार्रवाई करें। सभी थानों में लैंडलाइन फोन फंक्शनल रहे। इसके लिए मुख्यालय स्तर से निरंतर मानीटरिंग की जाए। 

सीएम नीतीश ने ली विधि व्यवस्था की पूरी जानकारी

मुख्यमंत्री आवास स्थित संकल्प कक्ष में आयोजित बैठक में एडीजी (विशेष शाखा) सुनील कुमार ने एक प्रेजेंटेशन के माध्यम से पर्व-त्योहारों के दौरान विधि-व्यवस्था को लेकर की गयी तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस क्रम में उन्होंने अब तक की कुछ सांप्रदायिक तनाव एवं विवाद की घटनाएं, उसके कारण तथा उस पर की गयी कार्रवाई, चिन्हित संवेदनशील जिले, शांति समिति की बैठक एवं विभिन्न समुदायों के धर्म गुरुओं के साथ समन्वय, मिश्रित आबादी, धार्मिक स्थलों पर प्रतिनियुक्ति व निगरानी, शरारती तत्वों पर निरोधात्मक कार्रवाई, भीड़-भाड़ वाले स्थलों पर भीड़ नियंत्रण, भीड़ प्रबंधन, यातायात नियंत्रण, सोशल मीडिया पर निगरानी , पर्याप्त संख्या में पुलिस बल व दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति तथा स्वयं सेवकों की सहायता आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। 

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में उनके प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, डीजीपी एसके सिंघल, गृह सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव, एडीजी (पुलिस मुख्यालय) जेएस गंगवार, एडीजी (सीआइडी) जितेंद्र कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, गृह विभाग के विशेष सचिव विकास वैभव, संयुक्त सचिव दिनेश कुमार राय और आइजी (मुख्यालय) गणेश कुमार भी उपस्थित थे।

Edited By: Rahul Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट