जागरण संवाददाता, बिहारशरीफ: नालंदा में शनिवार को आठ लोगों की जहरीली शराब से मौत पर जहां प्रशासन कुछ भी बोलने से इनकार कर रहा है वहीं स्वजन खुलकर शराब पीने से मौत की बात कह रहे हैं। पोस्टमार्टम रूम के सामने मौजूद स्थानीय लोग व मरने वालों के स्वजनों ने रोते-रोते कहा कि अंजाम चाहे जो हो, मुआवजा मिले-न मिले, पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार करेंगे। अन्य जिलों की तरह लीपापोती करने नहीं देंगे। शराब पीने से ही सभी की मौत हुई है। प्रशासन चोरी छिपे शराब बेचने वालों को पकड़े। 

स्थानीय लोगों की मानें तो सुबह अचानक से एक साथ चार लोगों की मौत का शोर हुआ। इसके बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही प्रशासन के हाथ-पैर फूलने लगे। शराब पीने की बात सुनते ही डीएसपी डा. शिब्ली नोमानी व थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद मौके पर पहुंचे। 

डीएम साहब, तस्करों पर क्या कार्रवाई होगी

मन्ना मिस्त्री के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी। इसी बीच उस घर के एक स्वजन ने डीएम का नंबर मांगा और काल किया। काल उठाते ही युवक ने कहा सर, पोस्टमार्टम तो होता रहेगा, लेकिन क्या शराब बेचने वालों पर कार्रवाई होगी। युवक खुद को आर्मी का जवान बता रहा था।

अंतिम संस्कार के लिए निकले, आधे रास्ते से पहुंचे अस्पताल

मरने वाले चारों के स्वजन शव के अंतिम संस्कार के लिए निकल चुके थे। सबसे पहले भागो मिस्त्री के स्वजन बीच रास्ते से प्रशासन के समझाने के बाद सदर अस्पताल पहुंचे। इसके बाद धीरे-धीरे तीन अन्य शव को भी सदर अस्पताल लाया गया। हालांकि मरने वाले कालीचरण के स्वजन शराब पीने की बात से इनकार कर रहे हैं।  

पत्नी ने कहा- रात में पहाड़ पर शराब पीने गए थे अर्जुन

छोटी पहाड़ी निवासी अर्जुन पंडित की पत्नी मंती देवी ने बताया कि उनके पति रात में पहाड़पर शराब पीने गए थे। उसके बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ी। रोते हुए कहा कि छह बेटी हको सर, एगो दिव्यांग बेटा है। अब के देखतै गे मैया।

एक-एक कर उठी लाश, चीत्कार से गूंजा सदर अस्पताल

शवों को देखकर सभी की आंखें नम हो गईं। स्वजनों की चीत्कार से पूरा अस्पताल गूंज उठा। किसी ने पिता तो किसी ने पति व भाई को खोया। सभी शराब को ही कोसते रहे। छोटी पहाड़ी निवासी सुनील तांती की बहन दहाड़ मारकर रो-रही थी। कहा कि केतना मना करा हलियो भैया, शराब मत पिया, लेकिन नै मनलथिन। अब इब घर के के देखतै। एक के बाद एंबुलेंस से शव सदर अस्पताल लाया गया। शव को देखते ही स्वजन रोने लगे। पूरा परिसर पुलिस छाबनी में तब्दील रहा। 

डीएम-एसपी ने शुरू किया अभियान

घटना के बाद सुबह से छोटी पहाड़ी क्षेत्र में पुलिस एवं उत्पाद विभाग की 4 टीम द्वारा काम्बेडिंग आपरेशन चलाया गया। इस आपरेशन का नेतृत्व डीएम शशांक शुभंकर व एसपी अशोक मिश्रा ने किया। इलाके से दो स्थलों पर विभिन्न प्रकार के शराब, पैकिंग मैटेरियल एवं पैकेजिंग उपकरण जब्त किए गए। एक जगह 750 एमएल की 5 बोतल अंग्रेजी शराब एवं एक बोरा टेट्रापैक पैकेजिंग मैटेरियल बरामद किया गया। दूसरी जगह से चुलाई देशी शराब 4 लीटर, 250 एमएल के 25 पाउच देशी शराब, झारखंड मार्क का 200 एमएल का 22 पाउच एवं 400 एमएल का 4 पाउच देशी शराब, 750 एम एल की 87 बोतल विदेशी शराब एवं एक छोटी पैकेजिंग मशीन बरामद की गई। वहीं बिहार थाना के नईसराय व अंबेर मोहल्ला स्थित एक फर्नीचर दुकान से पुलिस ने 300 बोतल अंग्रेजी शराब की बरामद की है। संचालक भागने में सफल रहा। पुलिस ने दुकान को सील कर दिया है। 

Edited By: Akshay Pandey