Move to Jagran APP

Bihar CoronaVirus: बिहार में मंत्री कपिलदेव कामत की कोरोना संक्रमण से मौत, CM नीतीश ने जताया शोक

Bihar CoronaVirus बिहार की नीतीश सरकार में मंत्री कपिलदेव कामत नहीं रहे। देर रात पटना एम्‍स में उनकी कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई। उनके निधन पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार सहित कई नेताओं ने शोक व्‍यक्‍त किया है।

By Amit AlokEdited By: Published: Fri, 16 Oct 2020 07:42 AM (IST)Updated: Fri, 16 Oct 2020 11:26 AM (IST)
बिहार सरकार में मंत्री कपिलदेव कामत नहीं रहे। फाइल तस्‍वीर।

पटना, जेएनएन। बिहार की नीतीश सरकार (Nitish Government) में पंचायती राज मंत्री (Panchayati Raj Minister) व जनता दल यूनाइटेड (JDU) के कद्दावर नेता कपिलदेव कामत (Kapildeo Kamat) का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया है। पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (Patna AIIMS) में देर रात उन्‍होंने अंतिम सांस ली। वे करीब एक सप्‍ताह से एम्‍स में भर्ती थे। दो दिनों से उनकी स्थिति बेहद खराब थी। कपिलदेव कामत के निधन पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) सहित कई नेताओं व अन्‍य लोगों ने शोक व्‍यक्‍त किया है।

एक सप्‍ताह से पटना एम्‍स से चल रहा था इलाज

मंत्री कपिलदेव कामत को एक सप्‍ताह पहले कोरोना संक्रमण के कारण पटना एम्‍स में भर्ती कराया गया था। वे पहले से किडनी के रोग से ग्रसित थे। उनका लगातार डायलिसिस भी किया जा रहा था। स्थिति खराब होने पर उन्‍हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। डॉक्‍टरों की टीम उनपर लगातार नजर बनाए हुए थी, लेकिन उन्‍हें बचाया नहीं जा सका।

खराब तबीयत को देख बहू को बनाया है प्रत्‍याशी

कपिलदेव कामत 10 साल से मंत्री थे। वे बीते 40 साल से सक्रिय राजनीति में थे, लेकिन बीते कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले कपिलदेव कामत के स्‍वास्‍थ्‍य को देखते हुए जेडीयू ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में उनकी मधुबनी के बाबूबरही सीट पर उनकी बहू मीना कामत को अपना प्रत्याशी बनाया है।

निधन पर शाेक संदेशों का लगा तांता

कपिलदेव कामत के निधन पर शोक संदेश कां तांता लगा हुआ है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि उनके असामयिक निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्रों में अपूरणीय क्षति हुई है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी कामत की मौत को दुर्भाग्यपूर्ण व अपूरणीय क्षति बताया है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.