राज्य ब्यूरो, पटना: अपना पटना, नगर निगम वाले बड़े शहरों की रैकिंग में हैदराबाद, चेन्नई, जयपुर, चंडीगढ़, बेंगलुरु, दक्षिणी दिल्ली और लखनऊ आदि को पछाड़कर 16वें स्थान पर पहुंच गया है। वहीं 'ईज ऑफ लिविग इंडेक्स-2020' यानी रहने लायक बेहतर शहरों की सूची में भी लंबी छलांग लगाते हुए 33वीं रैंक हासिल की है। इस श्रेणी में भी पटना रांची, आगरा, अमृतसर, गुवाहाटी आदि शहरों से आगे रहा। वर्ष 2018 में जारी रैंकिंग में पटना सबसे निचले यानी 109वें पायदान पर था। 

केंद्रीय शहरी मंत्रालय ने गुरुवार को देश के 111 शहरों की ईज ऑफ लिविंग और म्युनिसिपल वर्ग में अलग-अलग सूची जारी की है। दोनों ही वर्गों में दो तरह के शहरों की सूची जारी की गई है। एक श्रेणी 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों की है, तो दूसरी 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों की। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में बिहार से सिर्फ पटना शामिल है। वहीं 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में बिहारशरीफ, भागलपुर और मुजफ्फरपुर शामिल हैं। 

रहने लायक शहरों में मुजफ्फरपुर सबसे खराब

ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स के 10 लाख से कम आबादी वाले 62 शहरों में मुजफ्फरपुर 45.53 अंक के साथ सबसे निचले पायदान पर है। इस श्रेणी में बिहारशरीफ 52.42 अंकों के साथ 28वें और भागलपुर 52.19 अंकों के साथ 30वें स्थान पर रहा। 10 लाख से अधिक आबादी वाले 49 शहरों की सूची में श्रीनगर सबसे नीचे रहा।

बिहार के शहरों की रैंकिंग

ईज ऑफ लिविंग (10 लाख से अधिक आबादी)

शहर   रैंक    अंक 

पटना   33   53.26

ईज ऑफ लिविंग (10 लाख से कम आबादी)

शहर          रैंक    अंक 

बिहारशरीफ    28   52.42

भागलपुर       30   52.19

मुजफ्फरपुर    62   45.53

म्युनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स (10 लाख से अधिक आबादी)

शहर   रैंक    अंक 

पटना   16   49.25

म्युनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स (10 लाख से कम आबादी)

शहर          रैंक    अंक 

बिहारशरीफ   35   40.27

भागलपुर      36   39.94

मुजफ्फरपुर    43   37.83

 

म्युनिसिपल वर्ग में भी बिहारशरीफ-भागलपुर बेहतर

देश के 10 लाख से कम आबादी वाले 60 शहरों की सूची में भी मुजफ्फरपुर बिहार का सबसे पिछड़ा शहर रहा। इस सूची में शामिल बिहारशरीफ को 35वां जबकि भागलपुर को 36वां स्थान मिला। मुजफ्फरपुर 37.83 अंक के साथ 43वें स्थान पर रहा। 

प्लानिंग में आगे, तकनीक में पीछे पटना 

पहली बार जारी म्युनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स में पटना प्लानिंग के मामले में देश के टॉप-10 शहरों में शामिल रहा। उसे नौवां स्थान मिला है। इसके अलावा गवर्नेंस में 19वां, फाइनेंस में 25वां और सर्विस के मामले में 32वां रैंक मिला है। तकनीक के मामले में पटना को 40वां स्थान दिया गया है। इस सूची में 51 शामिल हैं।

आर्थिक क्षमता में पटना थोड़ा बेहतर

ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स में आर्थिक क्षमता के मामले में पटना देश के 49 शहरों में 14वें स्थान पर रहा। सिटीजन सर्वे में भी उसकी स्थिति 22वें स्थान के साथ बेहतर रही। गुणवत्तापूर्ण जीवन यानी क्वालिटी ऑफ लाइफ में पटना को 42वां जबकि स्थिरता के मामले में 44वें स्थान से संतोष करना पड़ा। 

Edited By: Akshay Pandey