पटना, जेएनएन। पहले दिन अपनी बल्लेबाजी से बिहार को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने के बाद आशुतोष अमन ने दूसरे दिन गेंदबाजी में भी अपना जौहर दिखाया। आशुतोष के पांच विकटों की मदद से बिहार ने सिक्किम को 81 रन पर ऑल आउट कर दिया। कप्तान समेत चार बल्लेबाज खाता तक नहीं खोल सके, और शून्य पर आउट हो गए। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी बिहार की टीम मोर्चा संभाल लिया है। दूसरी पारी में 48 ओवर खेलकर चार विकेट पर 150 रन बना लिए हैं। सिक्किम पर बिहार की 357 रनों की बढ़त हो गई है।
बल्लेबाजों के लिए सहायक मोइनुल हक की पिच पर घूमती हुई गेंद ने जब बिहार के बल्लेबाजों को परेशान किया तो लगा मैच तीन दिन भी नहीं चल पाएगा। बुधवार को विकेटों के पतझड़ में 277 पर अपने सभी विकेट खो चुकी बिहार की टीम से ज्यादा गुरुवार को सिक्किम की हालत पस्ता रही। सिक्किम के कप्तान नीलेश, विवेक और प्रीतम तो शून्य पर आउट हुए ही विजय 42 गेंद खेलकर भी अपना खाता नहीं खोल सके।
  इस बीच 12 गेंद पर 13 रन बनाने वाले मिलिंद ने एक चौका और एक छक्का लगाकर मैच देखने आए दर्शकों को कुछ देर के लिए उत्साहित किया, पर वे भी जलते बने। लंच ब्रेक तक सिक्किम ने 34 ओवर में सात विकेट खोकर 65 रन बना लिए थे। सिक्किम की ओर से नीलेश ने 0, विवेक ने 0, आशीष थापा ने 15, मिलिंद ने 13, बीबी शर्मा ने 01, ली यंग ने 02, अमोश राय 19, जहान 16 और प्रीतम ने 0 रन बनाए। जबकि ईश्वर चौधरी 13 रन बनाकर नाबाद रहे। बिहार की ओर से आशुतोष अमने पांच तो विवेक और विशालने दो-दो विकेट लिए।
सिक्किम को आल आउट करने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी बिहार की टीम ने 37 रन पर कुमार रजनीश और बाबुल कुमार के रूप में लगातार अपने दो विकेट गंवा दिए। इसके बाद इंद्रजीत और रहमत उल्लाह ने मोर्चा संभाला। खेल खत्म होने तक बिहार ने 48 ओवर में चार विकेट खोकर 150 रन बना लिए थे। बिहार की ओर से इंद्रजीत कुमार ने 30, कुमार रजनीश ने 25, बाबुल कुमार ने 0 और रहमत उल्लाह ने 66 रनों का योगदान दिया। केशव कुमार 27 और उत्कर्ष 01 रन पर नाबाद हैं।

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप