पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार विधानसभा चुनाव में लोजपा सांसद पशुपति कुमार पारस के सीट बंटवारे के फार्मूले से केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव में अभी काफी समय है। इसलिए अभी से सीट बंटवारे पर बात करना जल्दबाजी होगी। 

पासवान ने पटना में सोमवार को पत्रकारों से बात करते हुए राजग में सीट बंटवारे पर किसी तरह के विवाद को खारिज कर दिया और कहा कि समय आने पर सारे दल आपस में मिलकर इस मामले को सुलझा लेंगे।

बता दें कि लोजपा नेता पशुपति पारस ने कुछ दिन पहले बिहार की 243 विधानसभा सीटों में से 43 सीटों पर दावा किया था। इस पर रामविलास पासवान ने कहा कि उन्होंने अनुमान के आधार पर ऐसा दावा किया होगा, क्योंकि लोजपा के अभी छह सांसद हैं और प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में औसतन छह-सात विधानसभा क्षेत्र होते हैं।

इसी आधार पर पशुपति ने लोजपा के लिए अनुमान लगाया होगा। नागरिकता कानून, एनआरसी और एनआरपी के मुद्दे पर पासवान ने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का इस पर बयान आ चुका है तो उसके बाद इस पर चर्चा का कोई मतलब नहीं रह जाता है। जो बात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कह रहे हैं वही बात प्रधानमंत्री भी कह रहे हैं।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में एनडीए का गठबंधन, लोजपा को मिली एक सीट

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए एनडीए का वहां भी गठबंधन हो गया है। दिल्ली की 70 सीटों में से भाजपा ने जदयू को दो सीटें दी हैं तो वहीं लोजपा को एक सीट मिली है। जहां दिल्ली के बुराड़ी और संगम विहार सीट पर जदयू अपना उम्मीदवार उतारेगी।

दिल्ली चुनाव में पहले लोजपा ने सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की बात कही थी। पार्टी ने 15 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की भी घोषणा कर दी थी। लेकिन कहा जा रहा है कि इसके बाद भी लोजपा गठबंधन का प्रयास कर रही थी, जिसमें सफलता मिली है। बता दें कि बिहार के अलावा दिल्ली दूसरा राज्य है, जहां जदयू भाजपा और लोजपा एकसाथ मिल कर चुनाव लड़ रहे है।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस