राज्य ब्यूरो, पटना : बिहार पुलिस की मद्य निषेध इकाई ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए असम में गुवाहाटी के फाइव स्टार होटल से लिकर किंग माने जाने वाले सुनील भारद्वाज उर्फ सुनील शर्मा और उसके पार्टनर दोरजी फुन्सो करीमी को गिरफ्तार किया है। दोनों के नाम से हरियाणा, गोवा, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्यों में आधा दर्जन से अधिक शराब और स्प्रिट की फैक्ट्रियां हैं, जिनका टर्नओवर करोड़ों रुपये में है। इसके अलावा भी दोनों कई कंपनियों के मालिक हैं, जिनका कार्यालय नई दिल्ली के कनाट प्लेस में भी है। आरोपितों में एक कांग्रेस के पूर्व विधायक का बेटा है तो दूसरा बसपा के टिकट पर यूपी से विधानसभा चुनाव लड़ चुका है।

आपूर्ति करने में दोनों की बड़ी भूमिका 

मद्य निषेध इकाई के डीएसपी अभिजीत कुमार सिंह ने बताया कि शराबबंदी के बाद से बिहार में अवैध शराब की आपूर्ति करने में दोनों की बड़ी भूमिका सामने आई है। सुनील और दोरजी अपनी फैक्ट्री में बनी शराब ट्रक व टैंकर के जरिए बिहार के अवैध धंधेबाजों तक पहुंचा रहे थे। दोनों के विरुद्ध ग्रेटर नोएडा के अलावा बिहार के अलग-अलग जिलों के 20 थानों में उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज हैं।

रिमांड लेकर बिहार पुलिस की टीम पटना पहुंची

पिछले साल मार्च में औरंगाबाद के अंबा जिले में पकड़ी गई शराब की खेप मामले की जांच में सुनील भारद्वाज का नाम सामने आया था। इसके बाद करीब डेढ़ साल तक पुलिस ने दोनों के विरुद्ध पर्याप्त सबूत जमा कर कोर्ट से वारंट प्राप्त किया। इस बीच पुलिस को जानकारी मिली कि दोनों शराब माफिया गुवाहाटी में हैं। इसके बाद विशेष टीम गुवाहाटी गई, जहां 25 नवंबर को आधी रात के बाद दोनों को होटल में छापेमारी कर गिरफ्तार किया गया। इसके बाद कोर्ट से रिमांड लेकर बिहार पुलिस की टीम रविवार को पटना पहुंची जहां दोनों से पूछताछ की जा रही है।

बीएसपी के टिकट पर चुनाव लड़ चुका है सुनील

सुनील उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के नया गांव का मूल निवासी है और वर्तमान में ग्रेटर नोएडा के सेक्टर ईटा एक में सी-71 में रहता है। सुनील ने भारत के अलावा दुबई में भी काफी निवेश किया है और लग्जरी गाड़ियों का शौकीन है। वर्ष 2021 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बुलंदशहर की श्याना सीट से सुनील बहुजन समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुका है, जिसमें वह हार गया था। इसके अलावा वह केंद्रीय दूरसंचार विभाग के टेलीकाम एडवाइजरी कमेटी का सदस्य भी है।

पूर्व विधायक का बेटा है दोरजी फुन्सो

वहीं दोरजी फुन्सो करीमी अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर जू रोड के सांग्लो पातुंग कालोनी का रहने वाला है। दोरजी के पिता नीमा सेरिंग करीमी अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस के विधायक भी रह चुके हैं। उसने ब्रिटेन के वेल्स विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा हासिल की है और साइप्रस की महिला से शादी की है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट