जागरण संवाददाता, पटना: रेलवे भर्ती बोर्ड की गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (एनटीपीसी) परीक्षा में अनियमितता का आरोप लगाते हुए सोमवार को सैंकड़ों की संख्या में छात्रों ने पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर जमकर बवाल काटा। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। इससे उग्र होकर उपद्रवियों ने कोचिंग कांप्लेक्स में जाकर ट्रेनों में तोडफ़ोड़ की व पटना-कुर्ला एक्सप्रेस की एक बोगी में आग लगा दी। इस घटना के बाद पटना राजधानी और संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस समेत छह ट्रेनों को रद करना पड़ा। छह ट्रेनों के रूट में परिवर्तन किया गया। काफी संख्या में पुलिस बल के पहुंचने के बाद छात्र ट्रैक से हटे। दोपहर 2:30 बजे से रात 9:30 बजे तक स्टेशन व ट्रैक पर छात्रों का कब्जा रहा। छात्रों ने टर्मिनल पर पहुंचकर अप व डाउन रेलवे ट्रैक को जाम कर नारेबाजी शुरू कर दी। सात घंटे तक राजेंद्र नगर टर्मिनल रणक्षेत्र में तब्दील रहा। रेल पुलिस को भी आक्रोश झेलना पड़ा। छात्रों को मनाने रेल पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार मंडल, आरपीएफ कमांडेंट एसकेएस राठौर और मंडल रेल प्रबंधक प्रभात कुमार भी पहुंचे। भीड़ में मौजूद उपद्रवियों ने अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की की। आरा में भी छात्रों ने स्टेशन पर जमकर उपद्रव किया। ट्रैक को जाम कर दिया। 

डीएम-एसएसपी ने संभाला मोर्चा : 

सूचना पर डीएम डा. चंद्रशेखर सिंह व एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो पहुंच गए। छात्रों को ट्रैक से हटाने की कार्रवाई शुरू की गई। इसके विरोध में छात्रों ने पथराव शुरू कर दिया। छात्रों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। छात्रों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। आंसू गैस के कारण भगदड़ मच गई। छात्र राजेंद्र नगर कोचिंग कांप्लेक्स की ओर भागे। यहां भी जमकर तोडफ़ोड़ की। आंसू गैस के गोले को ये पुलिसकर्मियों की तरफ वापस फेंक रहे थे। छात्रों व पुलिसकर्मियों में एक घंटे तक झड़प हुई। पथराव में कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए हैं। सौ से अधिक छात्रों को चोटें लगी हैं। आरपीएफ की ओर से तोडफ़ोड़ व रेल संपत्ति बर्बाद करने के आरोप में 400 अज्ञात छात्रों पर मुकदमा दर्ज किया है। चार छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

  • - राजेंद्र नगर स्टेशन सात घंटे तक छात्रों के कब्जे में रहा
  • - पटना राजधानी और संपूर्ण क्रांति समेत छह ट्रेनें रद, 
  • - लाठीचार्ज में कई घायल, छह ट्रेनों के बदले गए रूट
  • - दोपहर 2:30 बजे स्टेशन पर पहुंचे छात्र, रात 9:55 पर बहाल हुआ परिचालन
  • - आरा स्टेशन पर भी छात्रों ने जमकर किया हंगामा 
  • - रेलवे की एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट में गड़बड़ी को ठीक करने की कर रहे थे मांग
  • - डीएम व एसएसपी ने संभाला मोर्चा, आंसू गैस के गोले छोड़े, सख्ती के बाद ट्रैक से हटे
  • - छात्रों ने जमकर किया पथराव, कई पुलिसकर्मियों को लगी चोट
  • - गुस्साए छात्रों ने टर्मिनल के बाहर खड़े वाहनों में की तोडफ़ोड़ 
  • - लाठीचार्ज के बाद राजेंद्र नगर कोचिग कांप्लेक्स में तोडफ़ोड़, पटना कुर्ला की बोगी में लगाई आग 
  • - चार गिरफ्तार, 400 से अधिक अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज 

लगाई पटना-कुर्ला एक्सप्रेस में आग

लाठीचार्ज से आक्रोशित छात्रों ने पटना-कुर्ला एक्सप्रेस के एस-5 कोच में आग लगा दी। कोच की कई सीटें जलकर खाक हो गईं। कर्मियों ने किसी तरह आग पर काबू कर कोच को रैक से अलग कर दिया। बाद में इस ट्रेन को रद कर दिया गया। कई बोगी के शीशे तोड़ दिए गए। 

पहली ट्रेन रात 10:22 बजे खुली 

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि पटना जंक्शन से पहली ट्रेन मोकामा के लिए सवारी गाड़ी रात 10:22 बजे रवाना हुई। इसके बाद पूर्वा एक्सप्रेस 10:24 में गुलजारबाग से राजेंद्र नगर के लिए आई। हालांकि 10.19 मिनट पर राजेंद्र नगर से कामाख्या जाने वाली कैपिटल एक्सप्रेस को प्लेटफार्म संख्या तीन पर लगाया गया। विशेष काउंटर बनाकर देर रात तक 20 लाख रुपये से अधिक मूल्य के 3800 से अधिक यात्रियों का टिकट वापस किया गया। इसके लिए डीसीएम स्तर के अधिकारी की तैनाती की गई है। 

Edited By: Akshay Pandey