पटना [जेएनएन]। घर से AK 47 और हैंडग्रेनेड बरामद होने के बाद मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। अब उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। डीजी मुख्यालय ने अनंत की गिरफ्तारी की कोशिश की जानकारी देते हुए बताया कि इसके लिए एसआइटी गठित की गई है। साथ ही लुकआउट नोटिस जारी करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
अनंत सिंह के बहनाई के घर छापेमारी
इस बीच सोमवार की शाम में पटना के तीन थानों की पुलिस ने अनंत सिंह की खोज में कई जगह छापेमारी की। पुलिस ने अनंत सिंह के बहनोई ललित सिंह के घर पर भी दबिश दी। हालांकि, उसे निराशा हाथ लगी।
वीडियो को आधार बना हो रही तलाश
अनंत सिंह के विषय में पुलिस को अबतक ये जानकारी नहीं मिल पायी है कि वो कहां हैं? लेकिन वीडियो से पुलिस कुछ हद तक पता लगाने की कोशिश कर रही है। वीडियो में अनंत सिंह ने काला चश्मा पहन रखा है जिसमें गाड़ियों की लाइट रिफ्लेक्ट हो रही है। इसके साथ ही वीडियो में बर्तनों की आवाज भी साफ सुनाई दे रही है। इससे पता चल रहा है कि वो किसी लाइन होटल जैसी जगह में मौजूद हैं।
डायरी से खुले कई अहम राज
शनिवार की रात विधायक अनंत सिंह के घर में छापेमारी के दौरान एक डायरी पुलिस के हाथ लगी। रविवार को जब डायरी की पड़ताल की गयी तो उसमें छिपे कई राज से पर्दा उठ गया। उसमें विधायक के कई गुर्गों के नाम हैं। वैसे लोगों के नाम भी हैं जिनसे विधायक हमेशा बात किया करते थे। कोड में हथियारों के नाम भी लिखे हैं। करीब 15 हथियारों की जानकारी डायरी में है।
सफेद एसयूवी से भागे अनंत सिंह
अनंत सिंह के पटना  स्थित सरकारी आवास में शनिवार को दिन में 10:45 बजे एक उजले रंग की एसयूवी रुकी थी। चालक गाड़ी में ही बैठा रहा। सूत्रों के मुताबिक लगभग आधे घंटे बाद अनंत सिंह उस गाड़ी में सवार हुए। इसके बाद गाड़ी वहां से चली गई। फिर वे वापस नहीं लौटे। उनके आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने भी पुलिस अधिकारियों द्वारा पूछताछ में इस बात की जानकारी दी है। अब राजधानी में लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से पुलिस उस गाड़ी के बारे में भी पता लगा रही है। पुलिस को शक है कि अनंत सिंह पटना में ही कहीं छिपे हुए हैं। इसके लिए राजधानी के होटलों पर भी पुलिस की नजर है।
सुरक्षाकर्मियों की मानें तो 11:00 बजे के बाद उन्होंने अनंत सिंह को आवास पर नहीं देखा। माना जा रहा है कि अनंत सिंह को इस बात की भनक लग गई थी कि पुलिस शनिवार को उन्हें पकडऩे के लिए उनके घर पर दस्तक दे सकती है। लिहाजा वे मौके की नजाकत को समझते हुए निकल गए। विधायक के एक करीबी का कहना है कि वकील के कहने पर ही अनंत सिंह अपने घर से निकल गए थे, ताकि बाहर रहकर वे उनके खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमों की तोड़ निकाल सकें। 
यूएपीए एक्ट में दर्ज प्रावधानों को लेकर पुलिस बिना वारंट मिले ही उन्हें गिरफ्तार करने के लिए शनिवार की रात एक बजे दल बल के साथ पटना स्थित आवास पर पहुंच गई। इस एक्ट के तहत किसी आरोपित व्यक्ति को पुलिस 180 दिनों तक नजरबंद और 30 दिनों तक हिरासत में रख सकती है। 
कोर्ट में सरेंडर करेंगे या होंगे गिरफ्तार
बताया जा रहा है कि अनंत सिंह कोर्ट में सरेंडर करने की योजना बना रहे हैं। इसके लिए वे पूरी योजना बना चुके हैं। तीन दिनों के अंदर वे पुलिस को चकमा देकर कोर्ट में आत्मसमर्पण कर देंगे। वहीं पुलिस उन्हें किसी भी कीमत पर कोर्ट में सरेंडर करने से पहले पकडऩा चाहती है। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस