टीम जागरण, पटना। जदयू के बाहुबली विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थक अराजकता पर उतर आए। हजारों समर्थकों के आगे पुलिस बेबस हो गई। दक्षिण बिहार के अधिकतर क्षेत्रों पर अनंत समर्थकों का कब्जा हो गया। सभी हाईवे पर भी ट्रैफिक रोक दिया गया है।

तस्वीरों में देखें, अनंत समर्थकों की गुंडई

पटना-झाझा मेन लाइन के फतुहा से लखीसराय के बीच के स्टेशनों पर विधायक के समर्थकों ने कब्जा जमा लिया। पटना-झाझा के बीच पांच दर्जन से अधिक ट्रेनें जहां-तहां रोक दी गई। इन ट्रेनों से यात्रा कर रहे एक लाख से अधिक यात्री फंसे हुए हैं।

पढ़ें- गिरफ्तारी के लिए मुकम्मल लाव-लश्कर लेकर पहुंची थी पुलिस

उग्र समर्थकों द्वारा मोकामा सवारी गाड़ी व कोलकाता-आनंदविहार एक्सप्रेस समेत अन्य ट्रेनों पर जमकर पथराव भी किया गया जिससे कई यात्री चोटिल भी हो गए हैं। उग्र विधायक ने मोकामा-आरा शटल ट्रेन के कई बोगियों में पेट्रोल व किरासन तेल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की लेकिन मौके पर तैनात पुलिसकर्मियों ने आग लगने के पहले ही उपद्रवियों को खदेड़ दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा, बिहार में जंगलराज नहीं

मोकामा व बाढ़ स्टेशन को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। पटना सेंट्रल रेंज के डीआइजी शालीन कमान संभाल रहे हैं। एसपी रेल प्रकाश नाथ मिश्र भी मौके पर पहुंच चुके हैं। आरपीएफ की ओर से भी बड़ी संख्या में जवानों की तैनाती की गई है।

गुरुवार की सुबह करीब छह बजे से कई जगह मोकामा पटना शटल के खुलते ही शिवनार में इसे उपद्रवियों ने रोक दिया। इस ट्रेन के सारे हाज पाइप को काट दिया और अप लाइन पर रेल परिचालन को ठप कर दिया। इसके बाद महानंदा एक्सप्रेस को मोकामा में रोका गया।

झाझा-पटना सवारी गाड़ी पर जमुई में जमकर पथराव की गई। हावड़ा जा रही जनशताब्दी एक्सप्रेस को भी कई जगहों पर डिस्टर्ब करने की कोशिश की। हथीदह व मोकामा में कोशी एक्सप्रेस को काफी देर तक रोका गया। पटना से धनबाद जा रही इंटरसिटी एक्सप्रेस पर बाढ़ स्टेशन पर जमकर पथराव किया गया। पुलिस की ओर से भी उपद्रवियों पर जमकर लाठीचार्ज किया गया।

पथराव के कारण ट्रेन के एसी कोच के कई शीशे टूट गए। कई यात्री व पुलिसकर्मियों को पत्थर लगने से चोट लगी है। बख्तियारपुर के अथमलगोला स्टेशन पर साहेबगंज इंटरसिटी एक्सप्रेस को रोककर तोडफ़ोड़ करने की कोशिश की गई। अनंत सिंह की गिरफ्तारी से उनके उग्र समर्थकों का आक्रोश रेलवे व सड़क पर देखने को मिल रहा था।

अथमलगोला के हसनचक गांव के पास उग्र समर्थकों ने रेलवे ट्रैक के सौ मीटर दूर तक अप व डाउन लाइन का क्लिप खोल दिया, जिससे अप-डाउन लाइन पर ट्रेनें जहां तहां रुकी रह गई। आरपीएफ जवानों के साथ जब रेलकर्मी क्लिप लगाने पहुंचे तो ग्रामीणों द्वारा जबरदस्त विरोध किया गया।

जमकर पथराव किया गया, जिससे आरपीएफ के जवान व रेलकर्मी पीछे हटने को मजबूर हो गए। बाद में भारी संख्या में पुलिस बल को बुलाया गया तब जाकर क्लिप लगाने की कोशिश की गई। इस क्रम में चार घंटे तक रेल परिचालन पूरी तरह ठप रहा। सुबह छह बजे से दिन में दो बजे तक सारी ट्रेनें जहां-तहां स्टेशनों पर रुकी रही।

पुलिस ने बुधवार की देर रात राजवंशी नगर अस्पताल में विधायक अनंत सिंह की सीने में दर्द के बाद मेडिकल जांच कराई। इसके बाद विधायक को दानापुर के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी त्रिभुवन नाथ पाठक के आवास पर पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में बेउर जेल भेज दिया गया।

बेउर जेल में उनके विरोधी विवेका पहलवान और राजू सिंह कैद हैं। जेल प्रशासन ने विधायक की सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया है। कारा प्रशासन सूत्रों की मानें तो विधायक होने के कारण अनंत सिंह को डिविजन वार्ड में रखा गया है।

इन ट्रेनों पर अनंत समर्थकों का कब्जा 12487 सिमांचल एक्सप्रेस मोकामा मोकामा आरा पैसेंजर शिवनार 13401 भागलपुर इंटर सिटी बरहिया 18697 कोशी हथिदह व मोकामा में

13131 कोलकाता आनंद विहार मोकामा

13132 कोलकाता आनन्द विहार बाढ़

12024 जनशताब्दी एक्सप्रेस

18621 पाटलिपुत्र किउल

53043 राजगीर हावड़ा एक्सप्रेस

13287 साउथ बिहार रामपुर डुमरा

12567 राज्यरानी गढ़हरा

12024 जनशताब्दी मोकामा व जमुई में

बरौनी सवारी गाड़ी बाढ़ व बख्तियारपुर

साहेबगंज इंटरसिटी अथमलगोला में

18184 दानापुर टाटा बख्तियारपुर में

Posted By: pradeep Kumar Tiwari