पटना [जेएनएन]। मधुबनी जिले में एक अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार किया गया है। उसके पास कोई वीजा नहीं है। वह खुद को अमेरिकी सेना का जवान बता रहा है। उसका आचरण संदिग्ध बताया जा रहा है। मूलरूप से वह कोरिया का नागरिक बताया जा रहा है।एसएसबी के जवानों ने उसे बासोपट्टी थाना क्षेत्र के खौना बोर्डर सेगिरफतार किया है।

गिरफतार अमेरिका का नाम डेविड कियोन है जो टूरिस्ट वीजा पर नेपाल घूमने आया था। वह अवैध तरीके से बॉर्डर में प्रवेश कर गया। एसएसबी के समादेष्टा नन्दन सिंह विष्ट ने बताया कि गिरफ्तार युवक दक्षिण कोरियाई मूल का  निवासी है। उसके पास से अमेरिकन मेरिन फोर्स का कार्ड और एक कम्पास बरामद किया गया है।

नेपाल से वह भारत नेपाल सीमा को पार कर भारतीय क्षेत्र में भ्रमण कर रहा था। एसएसबी खौना बीओपी के जवानों ने शक होने पर उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। जब उससे कागजात की मांग की गई तो उसने नेपाल भ्रमण का टूरिस्ट वीजा दिखाया।

भारत भ्रमण के वैध कागजात नहीं होने पर एसएसबी ने उसेगिरफ्तार कर लिया। इसकी उम्र लगभग 50 वर्ष बताई जाती है। सूत्रों के मुताबिक अबतक हुई पूछताछ से पता चला है कि वह वर्ष 1998 में अमेरिका शिफ्ट कर गया था। सूत्राों की मानें तो 2015 में वियतनाम और 2016 में पाकिस्तान में रहने की बात भी उसने बताई है।

हालांकि उसके पास से कोई आपत्तिजनक कागजात या सामग्री नहीं बरामद होने की सूचना है। जयनगर बाजार समिति परिसर स्थित बटालियन मुख्यालय में एसएसबी द्वारा गहन पूछताछ के बाद उसे बासोपटटी थाना पुलिस को सौंप दिया गया है।

कहा-पुलिस अधीक्षक ने

मामले की छानबीन एवं विदेशी से पूछताछ की जा रही है। इसके बाद ही स्थिति पूरी तरह स्पष्ट हो पाएगी। जांचोपरांत इस मामले से वरीय पदाधिकारियों एवं संबंधित विभाग को भी अवगत कराया जाएगा।'

-- दीपक बरनवाल, पुलिस अधीक्षक, मधुबनी

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस