पटना। राजधानी में एक दिन पहले हुई बारिश के बाद मौसम का तेवर एक बार फिर काफी सख्त हो गया है। रविवार को तेज धूप लोगों के पसीने छुड़ा रही है। महानवमी का पर्व होने के कारण काफी संख्या लोग मंदिरों एवं पूजा पंडालों में देवी दर्शन को आ रहे हैं। फिलहाल पंडालों के समीप काफी भीड़ हो रही है। ऊपर से तेज धूप ने लोगों को परेशान करके रख दिया है। इस संदर्भ में पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानियों का कहना है कि दिन में गर्मी रहने के बावजूद रात में पारा गिरेगा क्योंकि फिलहाल राजधानी और आसपास के क्षेत्रों के वातावरण में धीरे-धीरे पछुआ बह रही है। आजकल राजधानी में इस तरह का मौसम होना सामान्य बात है। दिन में गर्मी और रात में ठंड का मौसम अगले एक सप्ताह तक बना रहेगा। इसी तरह वातावरण में धीरे-धीरे ठंड बढ़ती जाएगी। नवंबर के प्रथम सप्ताह से राजधानी में ठंड में वृद्धि होने की उम्मीद है। वर्तमान मौसम से एक तरफ राजधानी वासियों का भले ही पसीने छूट रहे हैं, लेकिन गांवों के किसान काफी खुश हैं। क्योंकि आसमान साफ होने से खरीफ फसलों को पकने में काफी मदद मिलेगी। मुख्य रूप से धान की फसल को काफी लाभ होगा। राज्य की अधिकांश जिलों में धान की फसल पकने की ओर है और फिलहाल मौसम साफ होना उसके लिए अत्यंत आवश्यक है। बारिश हो जाने से दाने भी पुष्ट होंगे। खेतों में नमी होने से फसल की पैदावार अच्छी होगी। मौसम का मिजाज बदलने से दिन-रात के मौसम में काफी अंतर हो गया है। इससे लोग बीमार पड़ रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। मौसम के अनुकूल कपड़े पहनने की जरूरत है। विशेषकर बच्चे और बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखना होगा। इसके साथ सर्दी खांसी होने पर घबराएं नहीं, डॉक्टरों की सलाह लें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस