पटना, जेएनएन। राजधानी में भी लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं। मनचलों से परेशान एक छात्रा ने पुलिस की लापरवाही से शहर छोड़ दिया। पटना में रहकर एक छात्रा अपनी पढ़ाई करती थी, कुछ दिनों से बाइकर्स गैंग के लड़के उसे काफी परेशान कर रहे थे। छात्रा ने इसे लेकर एसकेपुरी थाने में लिखित शिकायत की थी, लेकिन पुलिस ने उसे केस वापस लेने को कहा था।

जानकारी के मुताबिक लड़की के पिता की लिखित शिकायत पर एसकेपुरी थाने में केस दर्ज हुआ था। केस की जांचकर्ता अनुप्रिया पर गंभीर आरोप लगे हैं। उसने छात्रा से कहा था कि लड़का माफी मांग लेगा, तुम केस वापस ले लो। बहरहाल, एसएसपी ने मामले की फ़ाइल मंगवाई है और सिटी एसपी को जांच करने को कहा गया है। 

एक ओर जहां बिहार में लड़कियों और महिलाओं के साथ लगातार अपराध की घटनाएं सामने आ रही हैं तो वहीं इस मामले ने बिहार पुलिस की पोल खोल दी है। बिहार के बक्सर और समस्तीपुर की घटनाओं में भी पुलिस अभी तक शव की शिनाख्त नहीं करा सकी है। 

इससे पहले गुरुवार को गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में दो मनचलों ने छेड़छाड़ का विरोध करने पर एक युवती पर तेजाब से हमला कर दिया, जिसमें उसका चेहरा बुरी तरह झुलस गया है। उसे इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, वहां से बेहतर इलाज के लिए उसे पटना के पीएमसीएच लाया गया।

विदित हो कि बीते तीन दिनों के अंदर युवतियों के साथ ये बड़ी वारदातें सामने आयी हैं। इसके पहले बक्सर व समस्‍तीपुर में दो युवतियों को मारकर जला दिया गया था। बक्‍सर में हत्‍या के पहले युवती के साथ दुष्‍कर्म किया गया था।

उधर, समस्तीपुर की घटना में भी हत्‍या के पहले दुष्‍कर्म की आशंका व्‍यक्‍त की गई है। दोनों जगह की घटनाएं लगभग समान हैं। उक्‍त दोनों घटनाएं हैदराबाद में महिला डॉक्टर से दुष्कर्म के बाद हत्या से मिलती-जुलती हैं।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस