पटना, जागरण टीम। बिहार में कोरोना (CoronaVirus) पॉजिटिव मामलों की संखया नौ तक जा चुकी है। लगातार संदिग्‍ध बढ़ रहे हैं। इस बीच बर्ड फ्लू (Bird Flu) व स्‍वाइन फ्लू (Swine Flu) के मामले भी लगातार मिल रहे हैं। अब हर साल की तरह इस साल भी गर्मी की दस्‍तक के साथ मुजफ्फरपुर में चकमी बुखार (AES) की दस्‍तक से स्‍वास्‍थ्‍य महकमा (Health Department) में हड़कम्‍प है। इन्‍हें देखते हुए मुख्यमंत्री (CM) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने शनिवार को एक समीक्षा बैठक (Meeting) कर पूरी अपडेट ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी से एईएस से निपटने के लिए पूरी तैयारी रखें। अभियान चलाकर लोगों को एएईएस के बारे में जागरूक किया जाए।

एईएस प्रभावित क्षेत्रों में किए जाएं सुरक्षा के सभी उपाय

मुख्यमंत्री ने कहा कि एईएस से प्रभावित होने वाले संभावित क्षेत्रों सभी प्रकार के सुरक्षात्मक उपाय किए जाएं। वहां संपूर्ण स्वच्छता पर ध्यान ज्यादा आवश्‍यक है। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्‍ण मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल (SKMCH) सौ बेड वाली शिशु गहन चिकित्सा इकाई (PICU) को जल्द से जल्द तैयार कराया जाए, ताकि ससमय वहां गहन चिकित्सा उपलब्ध करायी जा सकेे।

कोरोना, बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू की भी ली जानकारी

मुख्यमंत्री ने कोरोना की वजह से उत्पन्न स्थित के बारे में अद्यतन जानकारी ली। बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू के बारे में फिर दोहराया कि इस पूरा ध्यान दिया जाए कि जहां भी पक्षियों की अप्राकृतिक मौत (Unnatural Deaths of Birds) हो रही है, वहां डॉक्टर (Doctor) उपलब्ध रहें। इसके प्रभाव को रोकने के लिए कदम उठाए जाएं। लोगों को यह बताना जरूरी है कि ऐसी स्थिति में क्या करना है। स्वास्थ्य विभाग भी इस पर नजर रखे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021