पटना, जेएनएन। मिस जम्‍मू रहीं अभिनेत्री अनारा गुप्‍ता बुधवार को पटना में थीं। वे पिछले दिनों पटना में दो दिनों की हुई मूसलधार बारिश से लगे भीषण जलजमाव को लेकर काफी दुखी थीं। उन्‍होंने कहा कि जलजमाव से पटना के लोगों को हो रही परेशानी की खबर हमें मीडिया से मिली और मेरा मन विचलित हो गया। उन्‍होंने जलजमाव के लिए यहां की सरकार को दोषी ठहराया। इतना ही नहीं, अनारा गुप्‍ता ने शहर में फैल रही डेंगू को देखते हुए राजेंद्र नगर के इलाके में मच्‍छरदानी का वितरण किया। साथ ही इसके पहले उन्‍होंने पेटीएम के माध्‍यम से भी राशि भेजकर मदद की थी।   

अनारा गुपता ने कहा कि पटना में जलजमाव के रूप में हुए इस भीषण संकट के लिए जिम्‍मेवारी कहीं न कहीं यहां की सरकार की बनती है। उन्‍होंने कहा कि ऐसा तो है नहीं कि शहर बहुत निचले स्‍तर पर है। ड्रेनज सिस्‍टम ठीक नहीं है। हर साल पटना में पानी यूं ही भर जाता है। उनहोंने कहा कि पिछले साल भी यहां जलजमाव हुआ था, लेकिन उस समय कम था। लेकिन इस बार सरकारी व्‍यवस्‍था की पोल खुल गयी। जिम्‍मेवार लोगों को इसे गंभीरता से लेकर ड्रेनज सिस्‍टम में सुधार करने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि जब हमारे लोग मुसीबत में हों, तो मुझे सुकून कैसे मिल सकता था। इसलिए मैं मुंबई से यहां कर लोगों के बीच मच्‍छरदानी का वितरण किया।

उन्‍होंने कहा कि टीवी और न्‍यूज पेपर में पटना की हालत देखकर मन दुखी हो गया। इतना बड़ा शहर महज दो दिनों की बारिश में कैसे डूब गया। मैं वहां से कुछ कर नहीं पा रही थी, लेकिन तब भी मैंने पेटीएम से मदद भेजी थी। इसके बाद भी मन विचलित हो गया। बाद में मुझे जानकारी दी गई कि जलजमाव खत्‍म होने के बाद जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। खासकर डेंगू के केस बहुत ज्‍यादा आ रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि लोगों को खुद भी परहेज से रहने की जरूरत है। तभी वे बीमारियों से बच सकते हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस