पटना [जेएनएन]। महिला थाने में तो वैसे कई तरह के मामले आते रहते हैं। पति-पत्नी, प्रेमी-प्रेमिका और भी अन्य तरह के मामले। लेकिन एक महिला ने थाने में काउंसिलिंग के दौरान कहा कि मैडम, मेरा पति रहे या ना रहे, मोबाइल रहना चाहिए। 

काउंसिलिंग के दौरान फतुहा की एक महिला ने ये बातें काउंसिलिंग के दौरान कहीं। दरअसल, महिला ने अपने पति पर मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। महिला ने बताया कि वह 12 साल की शादी में अपने पति के साथ केवल छह साल ही रही है।

पति-पत्नी के तीन बच्चे हैं। दोनों के रिश्तों में खटास की वजह मोबाइल है। पति को शक है कि उसकी पत्नी का किसी के साथ अफेयर है और वह उसी से बात करती रहती है। वहीं पत्नी को जब समझाया गया तो वह मोबाइल छोड़ने को तैयार नहीं है।

काउंसिलिंग के दौरान महिला ने कहा कि अगर पति अलग घर में रखेगा तभी वो अपने बच्चों के साथ ससुराल जाएगी। इसपर पति ने कहा-इसे रखने के लिए तैयार हूं, लेकिन इसे अपने मोबाइल से दूरी बनानी पड़ेगी। इसपर महिला गुस्सा कर बोली कि नहीं ऐसा नहीं होना चाहिए। मेरा पति रहे न रहे, मोबाइल तो रहेगा ही।

काउंसलर ने बताया कि शहर ही नहीं गांवों की महिलाएं कई बार इसलिए शिकायत लेकर अाती है कि उन्हें मोबाइल दिलवा दिया जाए। कई बार पुरुष अपनी पत्नी को परिवारवालों से भी बात नहीं करने देते हैं। लेकिन ये मामला थोड़ा-सा पेंचीदा है, लेकिन दोनों में सुलह का पूरा प्रयास किया जा रहा है। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस