पटना, जेएनएन। बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के चौथे दिन गुरुवार को राज्य के विभिन्न जिलों में 61 परीक्षार्थियों को कदाचार के आरोप में निष्कासित किया गया। इमनें तीन पटना के हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर के अनुसार पूरे प्रदेश में शांतिपूर्ण ढंग से परीक्षा चल रही है। गुरुवार को सबसे अधिक गया में 12 परीक्षार्थी निष्‍कासित किए गए, जबकि दूसरे सथान पर नालंदा रहा। नालंदा में 11 परीक्षार्थियों को निष्‍कासित किया गया था।  

गुरुवार को दोनों पालियों में परीक्षा हुई। प्रथम पाली में सात लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। वहीं दूसरी पाली में लगभग साढ़े सात लाख छात्र परीक्षा में शामिल हुए। दोनों पालियों में अंग्रेजी की परीक्षा आयोजित की गई। पटना जिले के 74 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित की गई। सभी केंद्रों पर परीक्षा कदाचारमुक्त रही। प्रथम पाली में 34 हजार 920 परीक्षार्थी शामिल हुए, जबकि दूसरी पाली में 34 हजार 255 परीक्षार्थी शामिल हुए। 

तीसरे दिन हुआ था 71 का निष्‍कासन 

गौरतलब है कि बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के तीसरे दिन बुधवार को राज्यभर में नकल के आरोप में 73 परीक्षार्थी केंद्र से निष्कासित किए गए थे। इनमें सबसे अधिक भोजपुर से 17 निष्‍कासित किए गए थे। बुधवार को दोनों पालियों में सामाजिक विज्ञान विषय की परीक्षा हुई थी। बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा एवं बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने विभिन्न परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया था। दोनों कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए किए गए इंतजाम से संतुष्ट दिखे थे। शिक्षा मंत्री ने पटना स्थित मिलर हाई स्कूल केंद्र का निरीक्षण किया था।

शुक्रवार को होगी मातृभाषा की परीक्षा

शुक्रवार को मातृभाषा की परीक्षा  आयोजित की जाएगी। परीक्षा के लिए सभी तैयारी बोर्ड ने पूरी कर ली है। मातृभाषा की परीक्षा के तहत परीक्षार्थी हिंदी, उर्दू, बांग्ला एवं मैथिली के पेपर होंगे। 

कहां कितने निष्कासित

गया - 12

नालंदा- 11

भोजपुर-7

मधेपुरा - 7

मुंगेर - 6

गोपालगंज - 4 

पटना - 3

बक्सर - 2

औरंगाबाद - 2 

सिवान - 2 

मधुबनी - 1

रोहतास - 1 

अरवल - 1

पूर्वी चंपारण - 1 

शेखपुरा - 1

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस