पटना, जेएनएन। हाजीपुर में बीते 23 नवंबर को मुथूट फाइनेंस कंपनी के 55 किलो 777 ग्राम सोने की लूट मामले में वैशाली पुलिस ने मंगलवार की देर शाम बड़ी सफलता का दावा करते हुए लूट का चार किलो सोना बरामद करने की जानकारी पत्रकारों को दी है।

मामले में पटना जिले के बख्तियारपुर में भी वैशाली पुलिस ने सुबह छापेमारी की थी। बख्तियारपुर थानाध्यक्ष ने आठ किलो सोने की बरामदगी का जानकारी दी थी। वैशाली एसपी ने वहां छापेमारी की तो पुष्टि की है, परंतु बख्तियारपुर से सोना बरामदगी से इन्कार किया है। 

मंगलवार की शाम पत्रकार वार्ता में वैशाली एसपी जगुनाथ जलारेड्डी ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने एक अपराधी को तमिलनाडु से गिरफ्तार किया है, जबकि एक अन्य अपराधी की मां एवं पत्नी को पकड़ा गया है। गिरफ्तार अपराधी ने हथकड़ी के नुकीले भाग से गर्दन काटकर खुदकशी करने का प्रयास किया। उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अपराधी की मां एवं पत्नी को जेल भेज दिया गया है।

पकड़े गए अपराधी के बयान पर पुलिस कई स्थानों पर छापामारी कर रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम को मोबाइल सर्विलांस से जानकारी मिली कि लूटकांड में शामिल एक अपराधी वैशाली थाना क्षेत्र के जतकौली धर्मपुर गांव निवासी रामेश्वर सहनी का पुत्र धर्मेन्द्र सहनी तमिलनाडु में छिपा हुआ है।

वैशाली पुलिस ने उसे वहां से गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर टीम ने छापेमारी कर बिदुपुर थाना क्षेत्र के खपुरा गांव निवासी अवलाख राय के पुत्र शातिर अपराधी धर्मेन्द्र राय उर्फ धर्मेन्द्र गोप के घर से तीन किलो सोना बरामद कर लिया। हालांकि अपराधी नहीं मिला।

पुलिस ने यहां से शातिर अपराधी धर्मेन्द्र गोप की मां एवं पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पकड़े गए अपराधी की निशानदेही पर उसके घर से एक किलो सोना मिला। इस दौरान अपराधी धर्मेंद्र सहनी ने खुदकशी का प्रयास किया।

धर्मेन्द्र गोप के छिपने के स्थान पर उसके ननिहाल जुड़ावनपुर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर गांव में दबिश दी गई। पुलिस ने यहां उसके ममेरे भाई अवधेश राय को कट्टा एवं कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे गहन पूछताछ कर रही है। 

उधर बख्तियारपुर में आठ किलो सोना  चंपापुर गांव से सुबह बरामद होने की बात स्थानीय पुलिस ने कही। बताया गया कि वैशाली पुलिस ने यहां लाए गए बदमाश धर्मेंद्र सहनी की निशानदेही पर चंपापुर से दूसरे बदमाश की पत्नी को गिरफ्तार किया। बख्तियारपुर थानाध्यक्ष कमलेश प्रसाद शर्मा ने बताया कि धर्मेंद्र गोप और उसकी पत्नी चंपापुर में रिटायर्ड फौजी जगन्नाथ राय के घर में किराए पर रहते थे।

सुबह  साढ़े पांच बजे वैशाली सदर डीएसपी राघव दयाल के नेतृत्व में विशेष टीम बख्तियारपुर पहुंची और आधे घंटे तक रेकी करने के बाद धर्मेंद्र के साथ उसके ठिकाने पर धावा बोला। पुलिस को अनाज के ड्रम में सोने के जेवरात मिले।

नजदीक की एक दुकान से पुलिस ने तराजू और बांट मंगवाकर तौला तो सोने का वजन आठ किलोग्राम निकला। जिस जगह ड्रम रखा था, वहां फर्श पर नया प्लास्टर था। पुलिस को शक हुआ कि फर्श के अंदर भी गहने छिपाए गए हैं। खंती और हथौड़े से फर्श का प्लास्टर तोड़ा गया, लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021