पटना [जागरण टीम]। Bihar Boat Capsizes: बिहार-पश्चिम बंगाल सीमावर्ती क्षेत्र (Bihar West Bengal Boarder Area) में  गुरुवार रात बड़ी नौका दुर्घटना (Boat Tragedy) हुई। करीब 80 यात्रियों से भरी ओवरलोड नौका महानंदा नदी (Mahananda River) में पलट गई। दुर्घटना में मारे गए पांच लोगों के शव निकाले जा चुके हैं। जबकि, 28 लोगों को बचाया जा चुका है। दुर्घटना में करीब 40 लोग नदी में लापता हो गए थे।

मृतकों में एक बिहार के कटिहार का रहने वाला था। लापता लोगों में भी कई बिहार के बताए जा रहे हैं। दुर्घटना का कारण महानंदा नदी का जलस्तर अधिक होना व नाविक का नाव पर से नियंत्रण खो देना था।

अभी तक पांच शव बरामद

मिली जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल के मालदा (Malada) के इटहरी थाना क्षेत्र स्थित मुकुंदोपुर में गुरुवार की शाम साढ़े सात बजे महानंदा नदी में नाव हादसे में अभी तक पांच लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है। 40 से अधिक लापता लोगों में से 28 को राष्ट्रीय आपदा बल (NDRF) की टीम ने डूबने से बचा लिया है। शेष की तलाश जारी है। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

नाैका रेस देखकर लौट रहे थे लोग

महानंदा नदी उत्तर दिनाजपुर और मालदा (Malada) जिलों के मध्य से गुजरती है। नदी में हर साल नाैका रेस (Boat Race) होती है। इस साल भी रेस का आयोजन किया गया था, जिसे देखकर घर लौट रहे लोगों की नाव नदी में पलट गयी।

लापता लोगों की तलाश में जुटे गोताखोर

गुलंदरपुर ग्राम पंचायत-2 के प्रधान आफतरूल इमाम ने बताया कि अभी तक नदी से तीन शव निकाले गए हैं। उत्तर दिनाजपुर व मालदा जिला प्रशासन व पुलिस के अधिकारी गोताखोरों के साथ मौके पर पहुंच गए हैं। गोताखोर लापता लोगों की तलाश में जुटे हैं।

नाव में बिहार के भी कुछ लोग थे सवार

नाव पश्चिम बंगाल के जगन्नाथपुर घाट (Jagannathpur Ghat) से कटिहार के लिए खुली थी। नौका पर सवार अधिकांश लोग पश्चिम बंगाल के थे। हालांकि, उसमें बिहार के भी कुछ लोग सवार थे। बंगाल प्रशासन की ओर से जारी सूचना के अनुसार कटिहार के आबादपुर थाना क्षेत्र स्थित नलसर के निवासी बेगां (70) की मौत डूबने से हो गई। बिहार में अवादपुरपुर थाना पुलिस और बारसोई के अनुमंडल पदाधिकारी पवन मंडल स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप