संवाद सहयोगी, चौसा (बक्सर) : उत्पाद विभाग की यूपी सीमा पर मौजूद चौसा चेकपोस्ट पर लम्बे समय से अवैध वसूली किए जाने की सूचनाएं मिल रही थी। इस बीच शनिवार को उत्पाद अधीक्षक के औचक निरीक्षण में चेकपोस्ट पर तैनात सिपाही के बिस्तर से दो बोतल शराब बरामद करने के साथ ही उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इस घटना के बाद उत्पाद अधीक्षक ने हवलदार देवकांत सिंह समेत पूरी टीम को चेकपोस्ट से हटाते हुए विभाग को वापस भेज दिया। 

घटना के संबंध में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वाराणसी से बक्सर के लिए बस द्वारा कोई बारात आ रही थी। तब चेकपोस्ट पार करने के दौरान होमगार्ड के जवानों ने छह बोतल शराब के साथ एक बाराती को पकड़ लिया। तमाम हीला हवाली के बाद नौ हजार रुपये वसूल कर सिपाहियों ने बस को छोड़ दिया। हालांकि, इस दौरान हिस्से में पैसे कम लगने पर सिपाहियों ने दुबारा पीछा कर बरातियों से लदी बस को चौसा विश्वकर्मा मंदिर के समीप पकड़ लिया और 30 हजार रुपयों की मांग करने लगे। बाद में 16 हजार लेने के बाद सिपाहियों ने बस को छोड़ दिया। इस बीच किसी ने उत्पाद अधीक्षक को फोन कर घटना की जानकारी दी। जिसके कुछ ही देर बाद उत्पाद अधीक्षक अन्य पदाधिकारियों के साथ चौसा चेकपोस्ट औचक निरीक्षण को पहुंच गए। अधीक्षक की जांच में सिपाही संजय साहनी के बिस्तर से दो बोतल शराब बरामद करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ ही उत्पाद अधीक्षक ने हवलदार देवकांत समेत होमगार्ड की पूरी टीम को वहां से होमगार्ड वापस भेज दिया। इस संबंध में पूछे जाने पर उत्पाद अधीक्षक देवेंद्र प्रसाद ने सिपाही को गिरफ्तार किए जाने की बात तो बताई पर बस से वसूली किए जाने की जानकारी तक होने से इनकार कर दिया। इधर सूत्रों की माने तो चौसा चेकपोस्ट पर तैनात पूरी टीम अवैध वसूली में संलिप्त थी। कहते हैं कि पाप का घड़ा भरने के बाद फूट जाता है तो ऐसा ही कुछ चौसा चेकपोस्ट पर तैनात होमगार्ड टीम के साथ भी हुआ। यूपी से आने वाली शराब की खेप के साथ शराबियों को पकडऩे के लिए तैनात की गई टीम वाहन जांच करते हुए दिनरात वाहन चालकोंं से हेलमेट और जूता आदि के नाम पर अवैध वसूली में लिप्त रहती थी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप