पटना, जागरण टीम। HIGHLIGHTS  Bihar CoronaVirus News: बिहार में फैल रहे कोरोना वायरस की रोकथाम पर चर्चा के लिए सरकार ने सर्वदलीय बैठक आयोजित की। इस बीच आइएमए ने सरकार की व्‍यवस्‍था पर सवाल खड़े किए हैं। कहा है कि ऐसी स्थिति रही तो डॉक्‍टर बर्बाद हो जाएंगे। आइएमए के कार्यकारी अध्‍यक्ष ने प्रभावशाली लोगों को आइसीयू में बेड दिए जाने का आरोप लगाया है। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने शुक्रवार की शाम दावा किया कि अब तक ढाई करोड़ लोगाें की कोरोना जांच कराई जा चुकी है। अब हर रोज एक लाख लोगों की जांच की जा रही है। इसी के साथ टीकाकरण की गति भी बढ़ाई जा रही है। फिलहाल बिहार में हर रोज पांच से छह हजार नए कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। 

HIGHLIGHTS  Bihar CoronaVirus News Update:

08: 20 PM: शनिवार को राज्य से पहली बार एक दिन में 7870 संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों की यह संख्या बीते एक वर्ष में सबसे बड़ी है। राज्य में अब छह हजार के करीब पहुंच गए हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण ने 34 लाेगों की जान ली है। राज्य में अब तक इस महामारी की चपेट में आने की वजह से 1722 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इतना नहीं राज्य में संक्रमण दर भी बढ़कर 7.82 फीसद हो गई है।

07:00 PM: (एनएमसीएच में कोविड मरीजों के लिए कुल 160 बेड है जबकि 178 मरीज भर्ती हैं। शनिवार को बेड की वैकल्पिक व्यवस्था कर 32 नये मरीजों को भर्ती किया गया। इलाज के बाद स्वस्थ हुए सात को डिस्चार्ज किया गया। पटना सिटी क्षेत्र के तीन कोरोना पॉजीटिव की मौत हो गयी।

06.17 PM: पटना में आक्सीजन सिलेंडर तैयार करने के लिए शनिवार से आवश्यक लिक्विड की आपूर्ति शुरू हो गई। इसके प्लांट चौबीसों घंटे चलाए जाएंगे, जिससे आक्सीजन की आपूर्ति सुचारू रूप  से हो सके। जरूरत हुई तो कर्मचारियों को ओवरटाइम भी दिया जाएगा।

05.52 PM: सरकार ने ऑक्सीजन की कमी का आकलन करने के लिए कंट्रोल रूम बनाया है। कंट्रोल रूप 25 घंटे सातों दिन काम करेगा। यह जानकारी स्वास्थ्य के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने शनिवार को दी। उन्होंने  बताया कि बिहार को ऑक्सीजन की आपूर्ति जमशेदपुर और बोकारो ऑक्सीजन प्लांट से होती है।

05.33 PM: बिहार में कोरोना की बढ़ती चेन को देखकर तेजस्वी यादव ने सुझाव दिया है। राज्यपाल के साथ वर्चुअल बैठक के बाद उन्होंने कहा कि बिहार में वीकली लॉकडाउन लगाया जाए। इसके बाद जब लॉकडाउन लगे तब जनता को बताया जाए। जनता की रजामंदी से ही बिहार में बंदिश लगे। 

05.10 PM: ग्रामीण एवं राजस्व सेवा के अधिकारियों ने कहा है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामले के चलते फिलहाल पंचायत चुनाव कराना उचित नहीं होगा। इनके संघ की ओर से मुख्य सचिव को पत्र लिखकर कहा गया है कि बिहार में स्थिति सामान्य होने के बाद ही पंचायत चुनाव कराने पर विचार किया जाना चाहिए।

04.50 PM: औरंगाबाद में बढ़ती कोरोना महामारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग हाई अलर्ट पर हो गया है। सिविल सर्जन डॉ. अकरम अली ने जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कई निर्णय शनिवार को लिए। उन्होंने सभी स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां रद कर दी। छुट्टी पर गए चिकित्सक, नर्स एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को 48 घंटे के अंदर ड्यूटी पर लौटने का आदेश जारी किया है।

04.30 PM: कोरोना के बचाव को लेकर शनिवार को सर्वदलीय बैठक के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में कोरोना के मामले रोज बढ़ रहे हैं। तत्काल परिस्थिति को देखते हुए सरकार फिर एक बार कल बैठक करेगी। सभी की राय को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया जाएगा। 

03.40 PM: एम्स के शिशु विभाग ने बच्चों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए हेल्पलाइन सुविधा शुरू की है।  गूगल फॉर्म के माध्यम से पूरी तरह सवाल-जवाब होने के बाद ऑनकॉल डॉक्टर स्वजन से बात कर समाधान बताएंगे।

03.00 PM: बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए मरीजों को लिए मुफ्त में ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने को कई निजी संस्थाएं आगे आई हैं। सरकार ने पहले ही कह दिया है कि सबसे पहले अस्पतालों को ही सिलेंडर उपलब्ध कराए जाएंगे। 

02.09 PM: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार में कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सरकार लापरवाही बरत रही है। सरकार को बिहार के लोगों की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने बिहार में हो रही कोरोना जांच पर भी सवाल उठाए हैं। 

12.30 PM: कोरोना वायरस की वजह से जिम और म्‍यूजियम आदि बंद करने का आदेश वापस ले लिया गया है। कला एवं संस्‍कृति विभाग ने सरकार का अनुमोदन लिए बिना आदेश जारी कर दिया था। अब आपदा प्रबंधन विभाग इस दिशा में आदेश जारी करेगा। उम्‍मीद है कि इन्‍हें बंद रखने का ही निर्णय लिया जाएगा।

12.00 PM: आइएमए (Indian Medical Association) के कार्यकारी अध्‍यक्ष डॉ. अजय कुमार ने सरकार की व्‍यवस्‍था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। कहा है कि जिन्‍हें जरूरी नहीं उन्‍हें भ्‍ाी आइसीयू में भर्ती कर लिया जाता है। एक मरीज की इस वजह से मौत हो गई क्‍योंकि उन्‍हें समय पर आइसीयू में उपचार नहीं मिल सका। पहुंच वाले लोगों को आइसीयू में जगह दे दी जाती है। जो स्थिति है उसमें डॉक्‍टर भी बर्बाद हो जाएंगे। डॉ. अजय कुमार ने कहा कि 50 बेड वाले अनरजिस्‍टर्ड अस्‍पताल को भी मान्‍यता देने की जरूरत है।

11.30 AM: राज्‍यपाल की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक शुरू हो गई है। कोरोना की चेन तोड़ने के उपाय पर इसमें चर्चा होगी। सभी की निगाहें इस पर टिकी है कि सरकार क्‍या फैसला लेती है। कयास लगाए जा रहे  हैं कि लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू के विकल्‍प पर सरकार निर्णय ले सकती है।

10.58 AM: पटना जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार सबसे अधिक तेज है। यहां शुक्रवार को कुल 1364 कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए। गया जिले में 590 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। अब बिहार में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या बढ़कर 33,465 हो गई है। शुक्रवार की शाम की रिपोर्ट के मुताबिक 24 घंटे के अंदर राज्‍य में 6253 नए मरीज मिले थे।

10.20 AM: बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने शुक्रवार की शाम को बताया कि राज्‍य में अब तक ढाई करोड़ लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। हर रोज एक लाख से अधिक लोगों की जांच की जा रही है। इसमें पांच से छह हजार तक लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। इसे देखते हुए टीकाकरण की गति बढ़ाई जा रही है। साथ ही लोगों से भी सतर्कता बरतने की अपील की जा रही है।

9.30 AM: कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद सड़कों, बाजारों में भीड़ है। बड़ी संख्‍या में लोग बिना मास्‍क के नजर आ रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं किया जा रहा है। खासकर सब्‍जी और किराना दुकानों पर लोगों की भीड़ देखी जा रही है।

9 AM: कोरोना संक्रमण से मृतकों की संख्‍या बढ़ती जा रही है। शनिवार को सारण में सरपंच समेत दो लोगों की मौत कोरोना की वजह से हो गई। राज्‍य में एक दिन पहले 13 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं एक दिन पहले एनएमसीएच में पटना के आठ समेत नौ कोरोना पॉजिटिव की जान चली गई थी। 

8.30 AM:  स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को सबसे ज्‍यादा संक्रमित 21 जिलों में मिले। इनमें सबसे ज्‍यादा पटना से 1,364 के अलावा गया से 590 संक्रमित पाए गए हैं। इनके अलावा मुजफ्फरपुर से 393, भागलपुर से 386, बेगूसराय से 257, सारण से 248, औरंगाबाद से 182, मुंगेर से 173, रोहतास से 169, पश्चिम चंपारण से 151, पूर्वी चंपारण से 144, मुंगेर से 173, भोजपुर से 142, नालंदा से 117, पूर्णिया से 137, वैशाली से 117, समस्तीपुर से 103, सिवान से 147, सहरसा से 115, जहानाबाद से 139 और नवादा से 100 संक्रमित मिले हैं।

8.00 AM: मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी नवीन पांडेय, एक निजी क्लीनिक के डॉक्टर समेत कुल 75 लोगों में कोरोना का लक्षण पाए गए हैं। डीएम सहित तमाम संक्रमित होम क्वारंटाइन में हैं। वहीं कोरोना की पुष्टि होने के बाद डीएम आवास को सैनिटाइज कराया गया। इधर, डीएम के पॉजिटिव होने की जानकारी मिलते ही समाहरणालय में सन्नाटा पसर गया। एसीएमओ डॉ राजेंद्र कुमार ने बताया कि संपर्क में आने वाले तमाम लोगों का सैंपल लेकर जांच कराई जाएगी।

7.30 AM: एनएमसीएच के कोविड समर्पित अस्पताल होते ही यहां की चिकित्सा व्यवस्था में कई परिवर्तन होंगे। इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग से चार करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज की मांग की है। अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि गत वर्ष दो करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। लेकिन 31 मार्च तक अधिकांश राशि लौट गयी। मरीजों की संख्या अत्यधिक बढऩे की संभावना को देखते हुए 100 अतिरिक्त डॉक्टर, नर्स, डाटा इंट्री ऑपरेटर, टेक्नीशियन से लेकर कर्मी तक की मांग स्वास्थ्य विभाग से की गई है। अधीक्षक ने बताया कि मांग की एक लंबी सूची भेजी गई है।

7 AM: प्रदेश में कोरोना रोज रिकॉर्ड तोड़ रहा है! राज्य में नए संक्रमित मिलने के साथ सक्रिय मामलों की संख्या 33 हजार को पार कर 33,465 हो गई है। डॉक्‍टरों का कहना है कि पिछले साल की तुलना में कोरोना के नए स्ट्रेन की संक्रमण क्षमता अधिक है। यही कारण है कि एक व्यक्ति के संक्रमित होने से पूरा परिवार चपेट में आ जा रहा है। अभी तक शोध एजेंसियों से मिले फीडबैक के आधार पर नया स्ट्रेन पिछली बार के स्ट्रेन से कम घातक है। संक्रमण क्षमता अधिक होने के कारण डरने या परेशान होने की बात नहीं है।

सकारात्‍मक सोच और संतुलित आहार जरूरी

सकारात्मक सोच (Positive Thinking) और संतुलित आहार (Balanced Diet) से कोरोना संक्रमण को आसानी से हराया जा सकता है। यह कहना है एम्स पटना के डीन डॉ. उमेश भदानी का।कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए हर स्‍तर पर जागरूकता जरूरी है। चाहे वह खान पान हो अथवा अन्‍य एहतियात। लेकिन सबसे ज्‍यादा जरूरी मास्‍क और शारीरिक दूरी का पालन करना है। इससे ही कोई व्‍यक्ति संक्रमण से बचा रह सकता है।

यह भी  पढ़ें- डेटा छिपाने में उस्‍ताद है मेरा पीए, राजद विधायक ने सीएम नीतीश कुमार पर कुछ इस तरह कसा तंज

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021