पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Board Matric Exam: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (Bihar School Examination Board) की मैट्रिक परीक्षा में इस वर्ष 20 या 24 पेज की उत्तर पुस्तिका होगी। परीक्षार्थियों को निर्देश रहेंगे कि उत्तर पुस्तिका मिलते समय ही यह सुनिश्चित कर लें कि यह 20 या 24 पेज की है। सभी पेज क्रम के अनुसार हैं। उत्तर पुस्तिका पर ही सभी आवश्यक डाटा रहेगा। किसी भी परीक्षार्थी को अतिरिक्त उत्तर पुस्तिका नहीं दी जाएगी। परीक्षार्थी अंतिम पेज पर रफ कार्य कर सकते हैं। इसे बाद में वे काट देंगे। उन्हें उत्तर पुस्तिका वीक्षक को देकर ही परीक्षा भवन से निकलना है। आंसरशीट में दिए गए निर्देशों के गोले नीले या काले पेन से भरने हैं। कदाचारमुक्‍त परीक्षा और समय से रिजल्‍ट के लिए बोर्ड ने कई इंतजार किए हैं।

कदाचार की गुंजाइश खत्‍म करने को 10 सेटों का होगा प्रश्नपत्र

परीक्षा समिति ने से इस वर्ष दस सेटों में प्रश्नपत्र तैयार कराया है। सभी परीक्षार्थियों को बोर्ड जरूरत के अनुसार सेट मुहैया कराएगा। साथ ही वीक्षकों को यह निर्देश दिया है कि प्रश्नपत्र का सेट उत्तर पुस्तिका पर अवश्य लिख दें।

पांच फीसद हो सकता डाटा रहित उत्तर पुस्तिका का उपयोग

बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में मात्र पांच फीसद ही सादी पुस्तिका का उपयोग करेगा। बाकी डाटायुक्त उत्तर पुस्तिका का ही उपयोग किया जाएगा। बोर्ड ने सभी केंद्राधीक्षकों को निर्देश दिया है कि किसी भी हालत में मैट्रिक की परीक्षा में पांच फीसद से ज्यादा डाटा रहित पुस्तिका का उपयोग नहीं किया जा सकता है।

प्रश्नपत्र की गोपनीयता कायम रहेगी

बोर्ड ने परीक्षा से संबंधित सभी पक्षों को प्रश्नपत्र की गोपनीयता बनाए रखने का निर्देश दिया है। मैट्रिक की परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। प्रथम पाली एवं द्वितीय पाली की परीक्षा के लिए अलग-अलग समय पर प्रश्नपत्र निकाले जाएंगे। इसके लिए दंडाधिकारी तैनात किए जाएंगे। स्ट्रांगरूम से केंद्र तक प्रश्नपत्र पहुंचाए जाने की प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाएगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप