पटना, जागरण संवाददाता। Republic Day Celebration in Bihar: बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड ने मंगलवार से राष्ट्रीय झंडे की बिक्री शुरू कर दी। यहां पर छह साइज के झंडे लोगों को मुहैया कराए जा रहे हैं। इसके अलावा पहली बार 'तिरंगा' साड़ी भी बोर्ड ने उतारी है। इसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। कर्नाटक के हुबली से राष्ट्रीय ध्वज मंगाए गए हैं।

दरभंगा के कारीगरों ने तैयार की है तिरंगा साड़ी

राजधानी के खादी मॉल के प्रबंधक रमेश चौधरी के अनुसार मॉल में राष्ट्रीय झंडे की बिक्री शुरू कर दी गई है। यहां से झंडे प्रतिवर्ष राज्य के विभिन्न जिलों में भेजे जाते हैं। इसके अलावा विधान सभा एवं पटना उच्च न्यायालय में भी यहीं से राष्ट्रीय झंडे जाते हैं। प्रबंधक के अनुसार पहली बार बोर्ड की ओर से तिरंगे में साड़ी उतारी गई है। इसे दरभंगा के कारीगरों ने तैयार किया है। इस 'तिरंगा' साड़ी की मांग न केवल राजधानी में हो रही है बल्कि ऑनलाइन भी काफी संख्या में हो रही है।

राष्ट्रीय झंडे के साइज व कीमत

टेबल फ्लैग : 150 रुपये

कार फ्लैग : 180 रुपये

2 बाई 3 फीट - 814 रुपये

3 बाई 4.5 फीट - 1733 रुपये

4 बाई 6 फीट - 2048 रुपये

9 बाई 6 फीट - 3400 रुपये

'तिरंगाÓ साड़ी : 2500 रुपये

गांधी मैदान में दिखेगी 'आत्मनिर्भर बिहार' से लेकर 'कोल्हुआ' तक की झलक

गणतंत्र दिवस के अवसर पर गांधी मैदान में आयोजित समारोह के दौरान आत्मनिर्भर बिहार से लेकर वैशाली के कोल्हुआ से जुड़े पर्यटक स्थलों तक की झलक दिखेगी। दस विभागों की झांकी निकाली जाएगी। हालांकि जन सामान्य इन झांकियों का प्रत्यक्ष दीदार नहीं कर सकेंगे। कोरोना की वजह से समारोह में आम लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

झांकियों का निर्माण श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल के बाहर पंडाल लगाकर किया जा रहा है। कला संस्कृति विभाग द्वारा बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय सह स्मृति स्तूप की झांकी तैयार की जा रही है। पर्यटन निदेशालय वैशाली के कोल्हुआ से जुड़े मुख्य पर्यटक स्थलों के दृश्यांकन की तैयारी में है। भवन निर्माण विभाग की झांकी में बापू टावर दिखाए जाएंगे। कृषि विभाग कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति थीम पर आधारित झांकी दिखाएगा।

शिक्षा विभाग 'ऑनलाइन शिक्षा वक्त की जरूरतÓ थीम पर झांकी की प्रस्तुति करेगा। स्वास्थ्य विभाग की थीम कोरोना काल को देखते हुए 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहींÓ होगी। महिला विकास निगम और जीविका द्वारा 'सशक्त महिलाÓ की झलक दिखाई जाएगी। सूचना व जनसंपर्क विभाग जल-जीवन-हरियाली या इको टूरिज्म पर झांकी तैयार करेगा। जल संसाधन विभाग की थीम 'हर खेत को पानीÓ पर आधारित होगा।

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह के स्तर से सभी विभागों को ट्रक उपलब्ध करा दिए गए हैं। 22 जनवरी तक झांकी की तैयारी पूरी कर लेनी है। 24 जनवरी को झांकियों का पूर्वाभ्यास होगा।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप