जागरण टीम, पटना। राज्य में पिछले कई दिनों से कोरोना मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है, तो वहीं नए मरीज भी काफी संख्या में मिल रहे हैं। आज फिर पहली जांच रिपोर्ट में एकसाथ 349 नए मरीज मिले हैं, एक मरीज की शनिवार सुबह पटना एम्स में मौत हो गई है। कल छह मरीजों की मौत हो गई थी। प्रदेश में महामारी से अब तक 88 लोगों की मौत हो गई है। शनिवार को 349 नए मरीज मिलने के बाद संक्रमितों की संख्या अब 11460 हो गई है। 

आज समस्तीपुर जिले के शिक्षा विभाग के निवर्तमान जिला कार्यक्रम पदाधिकारी की मौत पटना एम्स में हो गई। वे कोरोना पॉजिटिव थे। समस्तीपुर में ही कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पिछले एक महीने से वे पटना में भर्ती थे। उनके मौत की सूचना से शिक्षा विभाग में शाेक की लहर दौड़ गई है। जिला प्रशासन ने उनकी मौत की पुष्टि की है। 

शनिवार को विभिन्न जिलों में मिले कोरोना के नए मरीज...

 

सबसे ज्‍यादा सहरसा में मिले 53 मरीज

शनिवार को मिले 349 मरीजों में सबसे ज्‍यादा 53 मरीज सहरसा में मिले। जबकि, दूसरे स्‍थान पर मुजफ्फरपुर में 44 मरीज मिले। वहीं पटना में शनिवार को 24 मरीज मिले हैं। इसके साथ ही पटना में आंकड़ा 1000 के पार चला गया है। खास बात कि शनिवार को बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नाराण सिंह, उनकी पत्‍नी व बेटा समेत परिवार के सात लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसी सप्‍ताह उन्‍होंने सभी नौ नवनिर्वाचित एमएलसी को शपथ दिलाई थी। उस कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार, उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत कई मंत्रियों ने शिरकत की थी। 

मेडिकल कर्मी भी निकल रहे पॉजिटिव

उधर, बिहार में अब डॉक्टर, नर्स सहित कई स्वास्थकर्मी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं जिससे स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। पटना के आरएमआरआई के लैब तकनीशियन सहित स्वास्थ्यकर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद यहां कल और आज कोरोना के सैपल्स की जांच नहीं हो रही है। रविवार से फिर यहां जांच शुरू होने की बात कही जा रही है। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस