पटना, जेएनएन। कोरोना से अब और ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। महामारी की रफ्तार अब बिहार में तेज हो रही है। शुक्रवार को कोरोना के 428 नए मरीज मिले, जिसके बाद मरीजों की कुल संख्या 11111 हो गई है। शुक्रवार को 2200 कोविड-19 सैंपल्स की जांच हुई। वहीं, गुरुवार को एक दिन में इस बीमारी के एक साथ 478 मरीज मिले थे, जो आज तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। पटना में इस बीमारी ने सबसे तेजी से पांव पसारा है यहां कोरोना ने लंबी चेन बना ली है।

एनएमसीएच में फिर दो और कोरोना पॉजिटिव की मौत

तीसरे दिन भी कोरोना अस्पताल एनएमसीएच में कोरोना से मौत का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को फिर दो कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। अस्पताल के नोडल पदाधिकारी डॉक्टर अजय कुमार सिन्हा ने बताया कि गुरुवार की रात करीब 11:00 बजे आलमगंज के गायघाट निवासी 55 वर्षीय मोहम्मद मुमताज की इलाज के दौरान मौत हो गई, वे लकवा से ग्रसित थे।

वहीं, दूसरी मौत रात में ही रक्सौल निवासी 42 वर्षीय जेबुन्निसा की हो गई, वो भी लकवा से ग्रसित थी। इन दोनों को पीएमसीएच से एनएमसीएच रेफर किया गया था। दोनों की मौत के बाद कोरोना से मृतकों की संख्या अब 83 हो गई है।

गुरुवार को भी पांच कोरोना मरीजों की मौत हो गई थी। इधर पिछले 24 घंटे में 183 और पॉजिटिव स्वस्थ भी हो गए हैं। अब तक कुल 7994 लोग स्वस्थ हुए हैं। राज्य में अब एक्टिव केस की संख्या 2609 हो गई है। 

अब तक 83 की मौत

शुक्रवार को दो मरीजों की मौत से पहले गुरुवार को कोरोना से पांच लोगों की मौत हो चुकी है। रोहतास के 57 वर्षीय, पटना के 66 वर्षीय, मुजफ्फरपुर के 54 वर्षीय, किशनगंज के 65 वर्षीय और भोजपुर के 75 वर्षीय संक्रमित की जान गई है। वे सभी कोरोना संक्रमण के अलावा अन्य संक्रमित बीमारियों के शिकार थे। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस