पटना । राजधानी को स्मार्ट बनाने की कवायद के पहले चरण में स्मार्ट सिटी के तहत मंदिरी नाला पर अतिक्रमण को हटाकर 11 मीटर चौड़ी सड़क बनाई जाएगी। यह बांस घाट से लेकर आयकर गोलंबर के बीच लगभग 1.3 किलोमीटर तक होगी। नाला को कवर कर इसे स्ट्रीट लेन बनाया जाएगा। इसमें बहुउपयोगी चीजों को विकसित किया जाएगा। इसके तहत इस लेन में वेंडिंग जोन, पौधरोपण के माध्यम से इसे बेहतर ग्रीन एरिया बनाया जाएगा। फुटपाथ, पौधा रहित डिवाइडर, कार लेन, साइकिल लेन, घेरा, ग्रीन स्पेस, वेंडर जोन और विज्ञापन क्षेत्र के निर्माण पर 65.2 करोड़ रुपए खर्च होंगे। स्मार्ट सिटी के तहत बनी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए स्पेन की कंपनी को प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट (पीएमसी) का गठन किया जा चुका है। यह कंपनी पटना पहुंच चुकी है, और 15 दिसंबर से कार्य आरंभ करेगी।

----------------------

स्ट्रीट वेंडरों को मिलेगा जगह

मंदिरी नाला को स्मार्ट करने के बाद यहां स्ट्रीट वेंडरों को जगह दी जाएगी। यहां पर वह स्मार्ट दुकानें लगाया जा सकता है। यह दुकान लेन के अनुसार लगेगी। सभी इलाके में फिक्स होगा। जो वेंडिंग जोन, पैदल यात्री, साइकिल, बाइक, चार पहिया वाहन के लिए भी लेन होगा। इसके अतिरिक्त पार्किंग एरिया भी विकसित होगा। सड़क किनारे घेरा बनाकर वेंडिंग जोन विकसित किया जाएगा। साथ ही वेंडर जोन के साथ ही पार्किंग होगी। इस दुकानों के पास बैठने के लिए स्थायी कुर्सी की व्यवस्था होगी।

----------------------

एक नजर में मंदिरी नाला

1.5 मीटर साइकिल ट्रैक

03 मीटर वेंडिंग जोन

1.5 मीटर होगा फुटपाथ

01 मीटर का डिवाइडर

65.5 करोड़ आएगी लागत

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस