नवादा। बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला शाखा के कर्मियों ने अपनी पांच सूत्री मांगों के समर्थन में गुरूवार को रैन बसेरा में धरना दिया। विवेकानन्द शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित धरना के बाद मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।

अपने संबोधन में वक्ताओं ने कहा कि केन्द्र सरकार ने सातवें वेतन की अनुशंसा 1 जनवरी 16 से लागू की है। जिसका अनुपालन अबतक राज्य सरकार ने नहीं किया है। यह कर्मचारियों के साथ धोखा है। महंगाई चरम पर है कर्मचारियों का गुजारा करना मुश्किल हो रहा है। ठेका, संविदा, मानदेय, नियोजित, दैनिक वेतन भोगी के नाम पर शिक्षकों, विकास मित्रों, किसान मित्रों, इंदिरा आवास सहायक,रोजगार सेवक, डाटा इंट्री ऑपरेटरों का शोषण किया जा रहा है। उन्हें अविलम्ब 18000 हजार का वेतनमान देने की मांग वक्ताओं ने की। इसके साथ ही नई पेंशन योजना को कर्मचारी विरोधी बताते हुए नई पेंशन योजना लागू करने की मांग की। जनसंख्या के आधार पर रिक्त पदों पर बहाली के साथ संवर्ग के तहत ग्रेड वेतनमान की मांग राज्य सरकार से की है। धरना को अन्य लोगों के अलावा अशोक शर्मा,मतीश नारायण झा,नीरज कुमार,रामस्वरूप प्रसाद,अनुग्रह नारायण ¨सह,नत्थु चौधरी,धर्मेन्द्र शर्मा,अरविन्द कुमार सुमन आदि ने संबोधित किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस