- डायट भवन व केएलएस कॉलेज में बनाया गया है मतगणना केंद्र

- 10 नवंबर को जिले के 70 प्रत्याशियों के भाग्य का खुलेगा पिटारा

-----------------

फोटो-5

-----------------

संवाद सहयोगी, नवादा : प्रथम चरण के तहत जिले में मतदान संपन्न होने के साथ ही जिला प्रशासन मतगणना की तैयारियों में जुट गई है। जिला मुख्यालय स्थित दो स्थानों पर पांचों विधानसभा क्षेत्र के वोटों की गिनती कराई जाएगी। डायट भवन (टीचर्स ट्रेनिग कॉलेज परिसर) और केएलएस कॉलेज को वज्रगृह सह मतगणना केंद्र बनाया गया है। 10 नवंबर को इन दोनों भवनों के आठ अलग-अलग हॉल में मतों की गिनती होगी और प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा खुलेगा। निर्वाचन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार डायट भवन में हिसुआ और गोविदपुर विधानसभा क्षेत्र के मतों की गिनती कराई जाएगी। वहीं केएलएस कॉलेज में रजौली, नवादा और वारिसलीगंज विधानसभा क्षेत्रों के वोटों की गिनती होगी। रजौली विधानसभा के वोटों की गिनती दो हॉल में होगी। प्रत्येक हॉल में सात टेबल लगाए जाएंगे। इसी तरह हिसुआ विधानसभा के वोटों की गिनती भी दो अलग-अलग हॉल में कराई जाएगी और प्रत्येक हॉल में सात टेबल लगाए जाएंगे। नवादा और गोविदपुर विधानसभा क्षेत्र के गिनती एक-एक हॉल में होगी। यहां 14-14 टेबल लगाए जाएंगे। जबकि वारिसलीगंज विस क्षेत्र के वोटों की गिनती दो अलग-अलग हॉल में होगी और सात-सात टेबल लगाए जाएंगे। जिला प्रशासन पारदर्शी तरीके से मतगणना की तैयारियों में जुटी हुई है।

--------------------

प्रेक्षकों की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम हुआ सील

- मतदान संपन्न होने के बाद पांचों विधानसभा क्षेत्र के ईवीएम को स्ट्रांग रूम को सील कर दिया गया है। रजौली, नवादा एवं वारिसलीगंज विधान सभा क्षेत्र के ईवीएम को केएलएस कॉलेज में बने वज्रगृह में सुरक्षित रखा गया है। वहीं हिसुआ और गोविंदपुर विधान सभा क्षेत्र के ईवीएम को डायट भवन में बने वज्रगृह में सुरक्षित रखा गया है। सामान्य प्रेक्षक जीबी पाटिल, जिला निर्वाचन पदाधिकारी यश पाल मीणा, पांचों विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारी, प्रत्याशी व उनके अभिकर्ता की उपस्थिति में विधान सभावार स्क्रूटनी का कार्य सम्पन्न किया गया। साथ ही पूरी पारदर्शिता के साथ संबंधित स्ट्रांग रूम को सील किया गया।

---------------------

सुरक्षा को लेकर किए गए हैं पुख्ता इंतजाम

- वज्रगृह की सुरक्षा के लिए अ‌र्द्धसैनिक बल की तैनाती की गई है। सीसीटीवी से लैस किया गया है और निगरानी की जा रही है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी यशपाल मीणा ने सभी प्रत्याशियों एवं अभिकर्ताओं से कहा कि स्ट्रांग रूम पर नजर बनाए रखने के लिए अपने-अपने विश्वस्त अभिकर्ता को निश्चित रूप से उपस्थित रखें, ताकि पूरी पारदर्शिता बनी रहे। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त वैभव चौधरी, अपर समाहर्ता उज्जवल कुमार सिंह, वरीय प्रभारी पदाधिकारी डॉ. कारी प्रसाद महतो, उप निर्वाचन पदाधिकारी श्रीनिवास, अनुमंडल पदाधिकारी नवादा उमेश भारती, भूमि सुधार उपसमाहर्ता नवादा मो. मुस्तकीम, नोडल पदाधिकारी मीडिया कोषांग गुप्तेश्वर कुमार आदि उपस्थित थे।

-----------------------

कोरोना को लेकर बनाए गए दो मतगणना केंद्र - आम तौर पर जिले में लोकसभा व विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती केएलएस कॉलेज में कराई जाती थी। लेकिन इस बार दो अलग-अलग परिसर में गिनती कराने की व्यवस्था की गई है। कोरोना काल में हो रहे चुनाव को लेकर ऐसा किया गया है। ताकि एक जगह ज्यादा भीड़ भार न हो। मतगणना कर्मी से लेकर मतगणना अभिकर्ता सुरक्षित रह सकें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस