नवादा। पंचायत चुनाव के मद्देनजर डीआरडीए सभागार में मंगलवार को मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण दिया गया। जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी यश पाल मीणा ने चुनाव से संबंधित आवश्यक टिप्स दिये। उन्होंने मास्टर ट्रेनरों को निर्देश देते हुए कहा कि चुनाव से संबंधित पूरी जानकारी हासिल कर लें। ताकि मतदान पदाधिकारियों व कर्मियों को प्रशिक्षण देने में परेशानी नहीं हो। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के उपरांत सभी मतदान कर्मियों की परीक्षा ली जाएगी। प्रशिक्षण को कोषांग के नोडल अधिकारी सह सदर अनुमंडल पदाधिकारी उमेश कुमार भारती को निर्देश देते हुए कहा कि एक बेहतर टीम बनाएं, जिससे पंचायत निर्वाचन राज निर्वाचन के दिए गए निर्देशों का पालन किया जा सके। उन्होंने कहा की ईवीएम मशीन के संबंध में पूरी जानकारी प्राप्त करना है और प्रशिक्षणार्थियों को बेहतर ढंग से प्रशिक्षण देना है। पंचायत चुनाव की बारीकी को ठीक से समझना है और निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का सही-सही अनुपालन करना है। प्रशिक्षण में समय पर आएं और शांतिपूर्ण वातावरण में सभी मतदान कर्मियों को प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करें। उन्होंने स्पष्ट कहा कि खानापूर्ति मुझे बर्दाश्त नहीं है। किसी प्रकार की कोताही होने पर सीधे प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। इसे गंभीरता से लेना है और निर्वाचन आयोग के सभी निर्देशों का सही-सही अनुपालन करना है। प्रशिक्षण में नामांकन से लेकर सभी प्रपत्र के बारे में मास्टर ट्रेनरों को ठीक से समझाया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने नोडल अधिकारी को निर्देश दिया कि कार्य योजना एवं निर्धारित कैलेंडर के अनुसार सभी संबंधित कर्मियों को प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करें। प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने वालों की सूची बनाकर कार्मिक कोषांग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। प्रशिक्षण के उपरांत प्रशिक्षणार्थियों के लिए मतदान एवं ईवीएम संचालन संबंधी आयोग के निर्देश की जानकारी के लिए परीक्षा आयोजित करने की व्यवस्था की जाएगी। प्रशिक्षण स्थल पर सभी मास्टर ट्रेनर एवं मतदान कर्मियों के लिए सभी प्रकार की आधारभूत सुविधा कन्हाई इंटर विद्यालय में व्यवस्थित की गई है। सदर अनुमंडल पदाधिकारी उमेश कुमार भारती ने मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षित किया। उन्होंने पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष तरीके से संपन्न कराने को लेकर आवश्यक टिप्स दिया। सदर एसडीएम ने कहा कि मास्टर ट्रेनरों की भूमिका काफी अहम है। पीठासीन पदाधिकारियों के साथ ही प्रथम, द्वितीय व तृतीय मतदान पदाधिकारियों को प्रशिक्षित करने की महत्वपूर्ण जिम्मेवारी मास्टर ट्रेनरों की है। इनके अलावा गश्ती दल दंडाधिकारी व सेक्टर मजिस्ट्रेट को भी प्रशिक्षण देना है। लिहाजा मतदान, ईवीएम संचालन, मत पत्र से जुड़ी सभी जानकारी रखें। प्रशिक्षण में कुल 51 मास्टर ट्रेनरों ने भाग लिया। प्रशिक्षण स्थल पर दो फोटोग्राफर एवं जो वीडियोग्राफर की प्रतिनियुक्ति की गई है। मतपेटिका के संबंध में भी को बेहतर ढंग से प्रशिक्षण दिया जाएगा। मौके पर कार्मिक कोषांग के पदाधिकारी अमु अमला, वरीय उप समाहर्ता विकास पांडेय, शिक्षा विभाग के डीपीओ जमाल मुस्तफा, डीपीआरओ सत्येंद्र प्रसाद सहित जिले के सभी मास्टर ट्रेनर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran