नवादा। डीडीसी एसएम कैसर सुल्तान ने मंगलवार को मनरेगा की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने सभी प्रखंड के कार्यक्रम पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभुक मजदूरों को मनरेगा से जॉब भी दिलाएं। इस तरह से उन्हें रोजगार यानि काम भी मिलेगा और आवास निर्माण का काम भी समय से पूरा होगा। समीक्षा में पाया गया कि पिछले 10 दिनों में करीब 500 आवास का निर्माण कार्य पूरा हुआ। वहीं पिछली बैठक से इस बार की बैठक के अंतराल में करीब 55 हजार श्रम दिवस सृजन कर उसके समतुल्य मजदूरों को काम की मजदूरी का भुगतान किया गया। समीक्षा में प्रखंडवार मनरेगा मजदूरी की समीक्षा हुई। जिसमें पाया गया कि सिरदला व हिसुआ प्रखंड में स्थिति संतोषप्रद नहीं है। इस पर उपविकास आयुक्त ने वहां के पीओ व अन्य कर्मियों को हिदायत देते हुए काम में तेजी लाने का निर्देश दिया। साथ ही इन दोनों प्रखंड के लिए विशेष बैठक की तारीख 19 सितम्बर को रखी गई है। यह भी कहा गया है कि मनरेगा से काम दिलाते हुए लाभुकों का आवास का काम पूरा कराएं। डीआरडीए सभागार में यह बैठक दो पालियों में हुई। पहली पाली में रजौली व दूसरी पाली में नवादा अनुमंडल के मनरेगा कर्मियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक में डीआरडीए निदेशक वीणा प्रसाद, डीआरडीए के संजय कुमार, सभी प्रखंडों के पीओ, पीआरएस, पीटीए, जेई, लेखापाल व अन्य उपस्थित हुए।

Posted By: Jagran