पकरीवरावां प्रखंड मुख्यालय से करीब छह किलोमीटर की दूरी बसा एरूरी गांव से लोगों को आने-जाने के लिए सड़क नसीब नहीं हो सका है। सड़क निर्माण की मांग को लेकर एरूरी ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार किया। इसके साथ ही एक भी ग्रामीण अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं किया। जिसके कारण मध्य विद्यालय एरूरी स्थित मतदान केंद्र संख्या 278 व 279 पर सन्नाटा पसरा रहा। इसकी सूचना मिलते ही जिला प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस पदाधिकारी एरूरी पहुंचे। इसके बाद ग्रामीणों को मतदान करने के लिए काफी समझाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण काफी उत्तेजित दिखे। अधिकारियों के समझाने के बावजूद सड़क निर्माण कराने की मांग पर डटे रहे। इसके साथ ही अधिकारियों के सामने भी लोग रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा लगाने लगे। गांव के पंकज कुमार, सिटू कुमार,कृष्ण मुरारी प्रसाद समेत दर्जनों लोगों ने बताया कि सड़क नहीं रहने के कारण प्रखंड मुख्यालय आने-जाने में काफी परेशानी होती है। बरसात के दिनों में पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है।इसके साथ ही किसी की तबीयत बिगड़ने पर खाट पर उठाकर ले जाने काफी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क निर्माण के लिए मुख्यमंत्री,सांसद,विधायक व जिलाधिकारी को शिकायत किया गया। इसके साथ ही रोड निर्माण नहीं होने पर वोट बहिष्कार करने की बात कही गई थी। बावजूद जनप्रतिनिधि व जिलाधिकारी द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया। जबतक रोड का निर्माण नहीं हो जाता है तबतक हमसभी वोट का बहिष्कार करेंगे।वहीं मतदान कराने पहुंचे पीठासीन पदाधिकारी शिवकुमार पांडेय ने बताया कि मतदान केंद्र संख्या-278 पर 1375 एवं मतदान केंद्र संख्या-279 पर 1290 वोटरों की संख्या है। लेकिन वोट का बहिष्कार करने के चलते एक भी मतदाता वोट डालने नहीं पहुंचे हैं। इस संबंध में प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी को अवगत कराया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप