नवादा। अतिक्रमण की समस्या लोगों के लिए परेशानी बनती जा रही है। सभी प्रमुख सड़कें अतिक्रमण की चपेट में है। अवैध कब्जाधारकों ने सड़कों का स्वरूप ही बदल दिया है। फुटपाथ पर पूरी तरह दुकानदारों का कब्जा है। कहीं सब्जी वाले दुकान लगाए है तो कहीं ई-रिक्शा और टेंपो वालों का अवैध कब्जा है। ऐसे मे राहगीरों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। शहर की ऐसी कोई सड़क नहीं है, जहां अतिक्रमण नहीं हो। विश्व शांति चौक से पंजाब नेशनल बैंक तक सड़क के दोनों और दुकानदार फुटपाथ पर कब्जा जमाए हैं। यही हाल हिसुआ से खनवां जाने वाली पथ का भी है। सैकड़ों की संख्या में चल रहे ई-रिक्शा और आटो मनमाने तरीके से सड़क पर कब्जा जमाए हुए हैं। यही कारण है कि आए दिन हिसुआ विश्व शांति चौक सहित आसपास की सड़कों पर जाम लगा रहता है। सख्त हिदायत के बाद भी कर लिया कब्जा

कुछ समय पूर्व प्रशासन और नगर परिषद के सहयोग से अभियान चलाकर अतिक्रमण हटाया गया था। साथ ही दुकानदारों को फिर से अतिक्रमण ना करने की सख्त हिदायत दी गई थी। बावजूद धीरे-धीरे अतिक्रमणकारियों ने फिर से अपना कब्जा जमा लिया। इससे सड़कें संकीर्ण हो गई हैं। अतिक्रमण है जाम की प्रमुख समस्या

नगर में जाम की बड़ी समस्या है, जिसका मुख्य कारण अतिक्रमण ही है। दुकानदार फुटपाथ पर कब्जा जमा लेते हैं। वहीं ई-रिक्शा व आटो वाले सड़क पर खड़े हो जाते हैं। इससे जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है। पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण खरीदारी करने आए ग्राहक भी सड़कों पर ही अपने वाहन को खड़ा कर देते हैं, जिससे राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। समाजसेवी नीरज कुमार कालू ने बताया कि आए दिन जाम की समस्या से लोगों को काफी परेशानी होती है। इस संबंध में नगर परिषद प्रशासन एवं जिला प्रशासन को आवेदन दिया गया है। क्या कहते हैं अधिकारी

कार्यपालक पदाधिकारी डा. मनीष कुमार ने कहा कि समय-समय पर अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए अभियान चलाया जाता है, लेकिन समय बीतते ही पुन: अतिक्रमणकारियों द्वारा फुटपाथ पर कब्जा जमा लिया जाता है। दुकानदार इसमें सहयोग करें। पुन: अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान चलाया जाएगा।

Edited By: Jagran