नवादा जिले के कादिरगंज से जमुई के सोनो को जोड़ने वाली राज्य उच्च पथ 82 का निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कंपनी द्वारा पानी का छिड़काव नहीं करने से प्रखंड के महुडर से रूपौ तक जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस पथ पर चलना मुश्किल हो गया है। निर्माणाधीन पथ पर कई माह पूर्व से ही मोरंग व पत्थर बिछाने का कार्य कंपनी द्वारा किया जा रहा है। परन्तु उस पर पानी डालने का काम नहीं किया जा रहा है। जिससे इस पथ पर वाहनों के आने जाने के क्रम में काफी धूल उड़ने लगते हैं। जिससे सड़क से आने- जाने वाले राहगीरों एवं सड़क किनारे घर में रहने वाले लोगों को भारी परेशानी हो रही है। उड़ने वाले धूल से प्रदूषण भी फैल रहा है। जिसके कारण जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

नियमानुसार सड़क कालीकरण के पहले मोरंग पर नियमित रुप से समुचित मात्रा में पानी का छिड़काव किया जाना है। ताकि मोरंग व डस्ट ठीक से बैठ सके। और सड़क की मजबूती बनी रहे। साथ ही धूलकण भी नहीं उड़े। लेकिन निर्माण कंपनी द्वारा सड़क पर पानी का न तो छिड़काव किया जा रहा है, और नही मोरंग-मिट्टी पर रोलर ही चलाया जा रहा है। परिणाम स्वरुप वाहनों के आवागमन से काफी मात्रा में धूल उड़ने से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। राहगीरों को मास्क लगाकर चलना लाचारी हो गया है। कभी-कभी तो काफी धूल उड़ने से बाइक चालक दुर्घटना के शिकार हो जा रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस